मेन्यू बंद करे

जानिए यूरिक एसिड में क्या नहीं खाना चाहिए

यूरिक एसिड में क्या नही खाना चाहिए

जब शरीर मे यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ जाती है तो गठिया जैसी बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है। गठिया जिसे गाउट भी कहते है। यूरिक एसिड बढ़ने से टॉक्सिन्स और अपशिष्ट पदार्थ शरीर से निकल नही पाते जिस कारण वो क्रिस्टल फॉर्म में बदल जाते है। ये क्रिस्टल जोड़ो को बहुत ही दर्दभरा बना देते है खासकर, पैरो की एड़ियों और पंजो को। इतना दर्द होता है कि जमीन पर पैर रखना मुश्किल हो जाता है। यूरिक एसिड को नियंत्रित करने का सबसे सरल और बेहतरीन उपाय है खान पान पर ध्यान देना। यूरिक एसिड बढ़ने पर क्या खाना चाहिए ये जानने से ज्यादा जरूरी है परहेज किसका करें।




यूरिक एसिड में परहेज-यूरिक एसिड में खान पान कितना महत्व रखता है

दरअसल सारा खेल ही भोजन का होता है। होता यूं है कि जिस व्यक्ति के शरीर मे यूरिक एसिड की प्रोब्लम होती है, वो लोग प्यूरिन को पचाकर बने अपशिष्ट को बाहर नही निकाल पाते।



बहुत से खाद्य पदार्थो में पाया जाने प्यूरिन शरीर मे पचकर अपशिष्ट में बदल जाता है, और यूरिक एसिड के रूप में निकल जाता है। लेकिन गाउट के रोगी इस यूरिक एसिड को निकालने में असमर्थ होते है।

अब आपको जानकर हैरानी किसी पदार्थ में प्यूरिन होने के बाद भी गाउट में नुकसान नही करता जैसे बहुत सी हरी सब्जियां।
कुछ खाद्य पदार्थो में प्यूरिन न होने के बाद भी वह यूरिक एसिड को बढ़ा देती है जैसे फ्रुक्टोज (Fructose; फलों में प्राकृतिक शक्कर) और चीनी युक्त पेय पदार्थ, कुछ पदार्थ जैसे कलेजी, भेजा आदि), समुद्री फूड, शराब और बियर आदि में प्यूरीन की मात्रा बहुत अधिक होती है।

एक तरफ जहाँ कम फैट वाले डेरी प्रोडक्ट यूरिक एसिड को कम करते है, वहीं अधिक फैट वाले डेरी प्रोडक्ट यूरिक एसिड को बढ़ाते है।

यूरिक एसिड में क्या नहीं खाना चाहिए-Uric Acid Me Kya Nahi Khana Chahiye

नॉनवेज

सभी प्रकार के नॉनवेज तो नही लेकिन कुछ खास चीज़ों का परहेज यूरिक एसिड में जरूरी होता है। जैसे इंटरनल ऑर्गन कलेजी, किडनी, भेजा आदि खाने से यूरिक एसिड बढ़ता है। इसके अलावा तीतर या हिरन का मांस भी न खाए।

कुछ खास तरह की मछलियां जैसे हेरिंग, ट्राउट, मैकेरल, टूना आदि इन मछलियों को खाना यूरिक एसिड में सही नही है। सी फ़ूड जैसे केकड़ा झींगा आदि भी गाउट के लिए हानिकारक हैं।

इनके स्थान पर ताजा मछली, सैल्मन, चिकन, लाल मांस, सुअर का मांस, भेड़ का मांस आदि खाए जा सकते है। कोशिश करे कि नॉनवेज न ही खाए।



प्रोटीन

हाइ प्रोटीन डाइट यूरिक एसिड की समस्या को काफी हद तक बढ़ा सकती है, क्योंकि प्रोटीन के किसी भी पदार्थ में प्रोटीन से दुगुनी मात्रा में प्यूरिन होता है।

शुगर और फ्रक्टोज़

  • जिन फलों में शुगर ज्यादा मात्रा में हो उन्हें खाने या उनका जूस पीने से बचे।
  • कार्बोनेटेड ड्रिंक, सोडा, न पिएं। शहद और हाई फ्रुक्टोस कॉर्न सिरप वाले खाद्य पदार्थों को न खाएं। खमीर खाने से बचे।
  • रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट, सफेद ब्रेड, केक और बिस्कुट भी न खाएं।

यूरिक एसिड में क्या खाना चाहिए

अब हम बात करेंगे कि यूरिक एसिड की समस्या में क्या खा सकते है। यूरिक एसिड की समस्या में निम्न खाद्य पदार्थों को खा सकते  हैं –

फल

हाइ शुगर वाले फलों को छोड़कर सभी फल खाएं जा सकते है। खासकर बेरीज और चेरी ये फल न केवल यूरिक एसिड कम करते है बल्कि स्ट्रेस हॉरमोन भी कम करते है।

सब्जियां

यूरिक एसिड की समस्या में सभी प्रकार की सब्जियां खा सकते हैं। लेकिन बादी वाली सब्जियों को खाने से परहेज करें जैसे अरबी, कद्दू आदि।

फलियां

सभी हरी फलियों की सब्जी खाने में कोई नुकसान नही होता लेकिन लोबिया की फली गैस बना सकती है जिससे दर्द बढ़ सकता है।

सूखे मेवे

सभी प्रकार के सूख मेवे और बीज खा सकते हैं। लेकिन काजू और सनफ्लॉवर सीड की मात्रा सीमित रखें। इनके अलावा ओट्स, ब्राउन राइस और जौ कम वसा वाले सभी डेरी उत्पाद, अंडा, ग्रीन टी डाइट में ले। कॉफी या चाय के ज्यादा प्रयोग से बचें। तेलों में कैनोला आयल, नारियल तेल , जैतून तेल और अलसी का तेल आदि खाएं।



भोजन के विकल्प

दही के साथ ओट्स, जामुन, स्मूदी, पालक, दही, कम फैट वाला दूध, अलसी, चिया बीज) टोस्ट,  स्ट्राबेरी, इडली, प्लेन गेहूँ का डोसा, उबले हुए अंडे, मशरूम, ऑमलेट, ताजा सब्जियां,  चौलाई (या क्विनोआ) सलाद, भुना हुआ चिकन, शिमला मिर्च, कम फैट वाला पनीर, साबुत अनाज का सैंडविच, ब्राउन राइस, चने, शतावरी, टमाटर और दलीया, ओट्स का उपमा (या टोफू और ब्राउन राइस), मिक्स्ड वेज सब्जी, चिकन बर्गर

1 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *