मेन्यू बंद करे

अनचाहे गर्भ का अजवाइन से गर्भपात कैसे करे?-Garbhpat Karne Ke Gharelu Upay

अजवाइन से गर्भपात कैसे करे

मां बनना हर औरत का सपना होता है पर कभी-कभी एक औरत वो सपना नही देखना चाहती। या फिर ये भी हो सकता है कि वो औरत पहले माँ बन चुकी हो और अभी बच्चा छोटा हो या फिर परिवार पूरा हो चुका हो या यह भी हो सकता है कि वह औरत अभी माँ बनना ही नहीं चाहती हो उन ऐसी परिस्थितियों में अगर गर्भ ठहर जाये तो उसे गर्भपात कराना होता है। अपने स्वास्थ्य को मद्देनज़र रखते हुए एवं हास्पीटल आदि की जटिलता के कारण औरतें प्राकृतिक तरीके से गर्भपात कराने की पक्षधर होती हैं। क्योंकि वो किसी से अपने गर्भ ठहरने को बताना भी नही चाहती। खासतौर से आजकल की युवा पीढ़ी।

यह युवा पीढ़ी नये-नये प्रयोग की पक्षधर होती हैं। स्वछंदतावाद के कारण अगर कुछ दिन ऊपर नीचे हो जाते हैं। तो युवा वर्ग चाहता है कि प्राकृतिक तरीके से ही गर्भपात हो जाये। जिससे उन्हें डाक्टर के पास नही जाना पड़ेगा। अपने पुरूष साथी का नाम छिपाना भी प्राकृतिक गर्भपात की एक बड़ी वजह हो सकती है।

खैर यहाँ सवाल यह नही है कि गर्भपात सही है या गलत। या फिर गर्भपात का कौन सा तरीका सही है? यहाँ हम बात प्राकृतिक तरीके से गर्भपात की कर रहे हैं। हर तरीके के गर्भपात की अपनी कुछ सीमाएं होती हैं। अजवाइन से गर्भपात प्राकृतिक गर्भपात की श्रेणी में आता है?

अजवायन से गर्भपात केवल तभी हो सकता है जब ज्यादा दिन न चढ़े हो। दस बीस दिन ऊपर होने पर अगर अजवायन से गर्भपात करतें हैं तो गर्भपात की प्रतिशत दिन बढने के साथ कम होने लगती है। अगर एक महीने से ज्यादा हो जाता है तो अजवायन से गर्भपात नहीं हो पाता।
ऐसी महिलाएं जिन्‍हें अस्‍थमा, हाई ब्‍लड प्रेशर, मधुमेह, मिर्गी और किडनी की समस्या हो उन्हें अजवायन से गर्भपात से बचना चाहिए।

इससे पहले कि हम अजवायन से गर्भपात कैसे करें ये जाने आइए जानते हैं गर्भपात की प्रकिया को गर्भ ठहरने की स्थिति में गर्भाशय में भ्रूण बनना शुरू हो चुका होता है। भ्रूण के बनने से पहले ही भ्रूण के शरीर से निष्कासन की प्रक्रिया को गर्भपात कहते हैं। गर्भपात का विरोध भी इसीलिए होता है कि तर्क यही दिया जाता है कि किसी के जीवन को नष्ट करने का अधिकार किसी को भी नही है।

क्यों हम अपने बच्चे का जीवन स्वंय ही नष्ट कर रहे हैं?

हमारे देश में परिस्थितियों पर गर्भपात निर्भर करता है कि गर्भपात कानूनी है या गैरकानूनी। लेकिन पश्चिमी देशों में गर्भपात को कानूनी माना जाता है। लेकिन फिर भी कुछ देशों में काफी नियमों का पालन करना होता है। अब हम बात करते हैं अजवायन से गर्भपात कैसे करें।

अजवाइन से गर्भपात कैसे करे?-Ajwain Se Garbhpat

अजवायन एक मसाला होता है जिसकी तासीर काफी गरम होती है। इसका यह गुण ही गर्भपात में सहायक होता है। अजवायन से गर्भपात के लिए सहायक होता है। यह नुस्खा पर तभी काम करता है जब कुछ दिन ही ज्यादा हुए हो।

अजवाइन से गर्भपात के तरीके-Garbhpat Karne Ke Gharelu Upay

अजवायन और जीरे के साथ

रात को सोते समय अजवायन और जीरे को भुन कर गर्म पानी के साथ लेने पर गर्भपात हो जाता है। इस नूस्खे को तब तक आजमाते रहिये जब तक कि गर्भपात न हो जाये।

अजवायन की चाय से

एक चम्मच अजवायन को आधा चम्मच हल्दी पाउडर व आधा चम्मच सौंठ पाउडर डालकर दो कप पानी में डालकर उबाल ले। जब पानी एक कप रह जाये तो उसे गरम गरम पी ले। इस चाय को तब तक पीये जब तक कि महावारी शुरू न हो जाये।

अजवायन के परांठे

आटे में अजवायन हींग व हल्दी मिलाकर उसके परांठे सुबह-सुबह नाश्ते में लेने से भी गर्भपात हो जाता है। यह नाश्ता तब तक करते रहिये जब तक कि गर्भपात न हो जाये।

अजवायन की फंकी लेने से

अजवायन को भून लें। साथ ही हींग व हल्दी को भी भुन लें। इन तीनों चीज़ो को एक साथ मिलाकर एक खाली डिब्बे में भर लें। तीनों समय खाना खाने के बाद इस फंकी को मुख वास की तरह लें। ऐसा करने से गर्भपात हो जाता है। जब तक गर्भपात नही होता तब तक इस फंकी का सेवन करते रहे।

अजवायन से गर्भपात के अपने नुकसान भी हो सकते हैं। क्योंकि है तो यह बिना किसी विशेषज्ञ की देखरेख के बिना। आइये तो नजर डालते हैं अजवायन से गर्भपात की जटिलताओं पर

  • अजवायन से गर्भपात करने पर बहुत ज्यादा रक्त स्राव हो सकता है।
  • अजवायन से गर्भपात करने पर शरीर में बहुत कमज़ोरी हो सकती है।
  • अजवायन से गर्भपात करने पर शरीर में गर्मी हो सकती है।

तो अंत में मै यही कहना चाहूँगी कि गर्भपात न करें क्योंकि किसी की जिंदगी लेने का अधिकार हमें ईश्वर ने नही दिया है। पर अगर गर्भपात करना ही पड़ता है तो कुशल नेतृत्व की देखरेख में करे।

0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *