मेन्यू बंद करे

जानिए सेहत से भरपूर वीट ग्रास के फायदे-Wheatgrass Ke Fayde

व्हीट ग्रास के फायदे

आज कल दुनिया में कई तरह की बीमारियाँ हैं और हर रोज़ नई तरह की बीमारियाँ पनप रही है। हमारे शरीर को इन बीमारियों से लड़ने के लिए कई तरह के विटामिन्स, मिनरल्स, कैल्शियम और प्रोटीन आदि की आवश्यकता पड़ती है। हम इन आवश्यकताओ को पूरा करने के लिए कई प्रकार की चीजों का सेवन भी करते हैं। इसके बावजूद कई बार छोटी मोटी परेशानियाँ आ ही जाती हैं। ऐसे में वीट ग्रास बहुत ही मददगार साबित होता है। वीट ग्रास के फायदे अनेक हैं। वीट ग्रास एक ऐसी चीज़ है जो शरीर में जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स की कमी को पूरा करता है और कई बीमारियों को खत्म करता है।

क्या है वीट ग्रास-Wheatgrass In Hindi

गेहूं के पौधे पर उसके पकने से पहले जो हरी और युवा घास होती है उसे वीट ग्रास कहा जाता है। इन्हे तोड़ कर और सुखा कर इनका पाउडर बना लिया जाता है और फिर इस्तेमाल किया जाता है। कई लोग बिना सुखाये ही इनका प्रयोग कर लेते हैं। वीट ग्रास को एक सुपर फूड माना जाता है।

वीट ग्रास के फायदे-Wheatgrass Ke Fayde

कमजोरी को करे दूर-wheatgrass benefits in hindi

दिन भर काम करने की वजह से शरीर में कमजोरी आ जाती है और चक्कर भी आने लगते है। ऐसे में वीट ग्रास किसी रामबाण से कम नहीं। वीट ग्रास का जूस शरीर में ज़रूरी तत्वों की पूर्ति करता है और कमजोरी को दूर करता है।

पाचन में करे मदद-wheatgrass juice benefits in hindi

आज कल लोगों का खान पान ठीक ना होने के कारण पेट में भोजन ठीक से पच नहीं पाता। इससे पेट में कई विकार उत्पन्न हो जाते है और ये कई और समस्याओं को जन्म देता है। ऐसे में व्हीट ग्रास आपकी पाचन शक्ति को बढ़ाता है। वीट ग्रास में अमीनो ऐसिड और एंज़ाइम्स भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं जो भोजन को जल्दी पचाने में मदद करते हैं और पेट को साफ रखते हैं।

शरीर को दे पोषण-benefits of wheatgrass juice in hindi

वीट ग्रास शरीर को पोषण भी देता है। इसमे भरपूर मात्रा में विटामिन ए, बी और मिनरल्स पाये जाते हैं जो आपके शरीर को पोषण देकर आपको स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं।

ग्लूकोज़ के लेवेल को करे कंट्रोल-jawara juice benefits

वीट ग्रास डायबिटीज़ के मरीजों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। वीट ग्रास के जूस का नियमित सेवन करने से शरीर में ग्लूकोस का स्तर कंट्रोल में रहता है जिससे डायबिटीज़ भी कंट्रोल में रहता है।

भूख को करे कम-jaware ka juice benefit in hindi

जिन लोगों को भूख बहुत ज्यादा लगती है वो लोग वीट ग्रास का सेवन कर सकते हैं। वीट ग्रास शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की पूर्ति करके भूख को कम करने में मदद करता है। इसके लिए आप नियमित रूप से वीट ग्रास के जूस का सेवन करें या सुबह खाली पेट व्हीट ग्रास खाये।

कोलेस्ट्रॉल को करे कम-wheatgrass benefits in hindi

वीट ग्रास आपके दिल का भी खयाल रखता है। वीट ग्रास में ऐसे तत्व पाये जाते है जो बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करते है और आपको स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं।

कैंसर से लड़े-wheatgrass juice benefits in hindi

वीट ग्रास कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ने में भी आपकी मदद करता है। वीट ग्रास में ऐन्टी ओक्सीडेंट्स पाये जाते है जो कैंसर को खत्म करने में मदद करते है।

जोड़ों के दर्द को करे दूर-benefits of wheatgrass juice in hindi

जैसे जैसे उम्र बढ़ती है वैसे वैसे जोड़ों में दर्द की समस्या आम हो जाती है। कई बार तो यह समस्या बहुत बढ़ जाती है और चलने फिरने में बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इससे छुटकारा पाने के लिए आप वीट ग्रास का सेवन भी कर सकते हैं। वीट ग्रास के नियमित सेवन से जोड़ों के दर्द में आराम मिलता है।

व्हीटग्रास जूस पीने के क्या फायदे हैं?

व्हीटग्रास यानि जवारे का रस के कई फायदे हैं - 1.जवारे का रस का सेवन करने से खून की कमी पूरी होती है ,एनीमिक व्यक्ति को जवारे का जूस का सेवन करने से फायदा होता है । 2.मोटापे से ग्रसित व्यक्ति को जवारे के रस का सेवन करने से काफी लाभ होता है । इसके सेवन से शरीर को पोषक तत्व मिलते हैं । 3.जवारे के रस सेवन से पेट की अपच की समस्या में काफी लाभ होता है । 4.जवारे के रस का सेवन बैड कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता है ।जिसकी वजह से दिल की बीमारी का खतरा कम रहता है । 5.जवारे के रस का सेवन करने से ब्लड प्रेशर सामान्य रहता । 6.जवारे के रस का सेवन मधुमेह की बीमारी को मात दे सकते हैं ।जवारे के जूस पीने से शरीर में इंसुलिन की मात्रा बढ़ जाती है और खून में शुगर की मात्रा कम हो जाती है । 7.जवारे का रस गठिया की बीमारी में काफी लाभ मिलता है । इसके सेवन से घुटनों के सूजन और दर्द में भी आराम मिलता है । 8.जवारे के जूस में एंटी एगिंग गुण भी पाए जाते हैं । जो उम्र के साथ चेहरे पर आने वाली झुर्रियों को बढ़ने से रोकता है ।

गेहूं के जवारे का रस कब पीना चाहिए?

गेहूं के जवारे के रस की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसका प्रयोग गर्मियों में ज्यादा किया जाता है। सर्दियों में गेहूं के जवारे का सेवन दोपहर के समय करना चाहिए । गेहूं के जवारे के रस का सेवन अधिकांश सुबह के समय करना चाहिए जिससे शरीर को जरूरी पोषक तत्व मिलेंगे और व्यक्ति स्वस्थ महसूस करेगा । यदि सुबह सेवन करना संभव ना हो तो दोपहर के खाने से पहले इसका सेवन करना चाहिए ।

व्हीटग्रास के क्या फायदे हैं?

व्हीट ग्रास यानी गेहूं के जवारे अत्यधिक गुणकारी होते हैं - 1. चेहरे के मुहासे को ठीक करने में व्हीट ग्रास गुणकारी है। 2.व्हीट ग्रास पाउडर के नियमित सेवन से पुरुषों और महिलाओं दोनों की प्रजनन क्षमता बढ़ती है । 3.व्हीट ग्रास में एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं जो घाव, कीड़ों के काटने ,खरोच तथा त्वचा पर चकत्ते आने पर लाभदाई है। 4.व्हीट ग्रास मे पाए जाने वाले क्लोरोफिल से शरीर में हिमोग्लोबिन का उत्पादन होता है इसीलिए एनीमिया के रोगियों को व्हीटग्रास के सेवन की सलाह दी जाती है । 5. व्हीट ग्रास में कैंसर की कोशिकाओं को रोकने की क्षमता होती है इसीलिए कैंसर के रोगियों को व्हीटग्रास पाउडर पाउडर या जूस का सेवन करना चाहिए । 6. शराब के सेवन के बाद होने वाले हैंगओवर का भी गेहूं के जवारे से इलाज किया जा सकता है । 7. अवसाद के रोगियों के लिए भी गेहूं के जवारे का सेवन फायदेमंद होता है ।

गेहूं के ज्वारे कैसे उगाये?

गेहूं के जवारे उगाने की विधि - गेहूं के ज्वारे उगाने के लिए हमेशा अच्छी किस्म के जैविक यानी ऑर्गेनिक गेहूं का प्रयोग करना चाहिए कभी इसके गुणों का भरपूर लाभ मिलता है । गेहूं के जवारे उगाने के लिए लगभग 100 ग्राम गेहूं को रात को सोते समय किसी बर्तन में भिगोकर रख दें । 7 गोलाकार गमले लेकर उनके तले के छेद को एक पतले पत्थर के टुकड़े से ढक दें । मिट्टी और खाद को अच्छी तरह से मिलाकर गमले में 2 इंच मोटी पर परत बिछा दें और पानी छिड़क दे । गेहूं के जवारे उगाने के लिए हमेशा जैविक खाद का ही प्रयोग करें ।अगले दिन गेहूं को धोकर निथार लें ।अब एक गमला लेकर उस पर गेहूं की एक परत बिछा दे। गेहुओं के ऊपर थोड़ी मिट्टी डाल दें और पानी से सीच दें ।गमले को किसी छायादार स्थान जैसे बरामदे या खिड़की के पास रख दें जहां पर्याप्त हवा और प्रकाश आता हो लेकिन धूप की सीधी किरण मामले पर नहीं पड़नी चाहिए ।अगले दिन अगला गमला लेकर उसमें गेहूं बो दीजिए और इसी तरह हर रोज एक गमले में गेहूं बोते रहें । गमलों में रोजाना कम से कम दो बार पानी दें ताकि मिट्टी नम और गीली बनी रहे। जब गेहूं के जवारे 1 इंच से बड़े हो जाएं तो एक बार ही पानी देना पर्याप्त रहता है पानी देने के लिए स्प्रे बॉटल का प्रयोग करें । 7 दिन बाद 5 से 6 पत्तियों वाला 6 से 8 इंच लंबा जवारा निकल जाएगा अब इस जवारे को जड़ सहित उखाड़ ले और पानी से अच्छे से धो कर प्रयोग कर ले । इस प्रकार आप हर रोज एक गमले से जवारे तोड़ते जाइए और रोज गमले में जवारे बोते जाइए ताकि आपको निरंतर जवारे मिलते रहे ।

व्हीटग्रास पाउडर क्या होता है?

व्हीटग्रास यानी गेहूं के जवारे हमारे शरीर के लिए बहुत ज्यादा लाभदायक होते हैं । खासकर जवारे का रस । परंतु व्हीटग्रास जूस बनाने में थोड़ा समय लगता है इसीलिए आजकल लोग व्हीटग्रास पाउडर का प्रयोग करते हैं । व्हीटग्रास पाउडर व्हीट ग्रास को धूप में सुखाकर उसे पीस कर बनाया जाता है ।इस पाउडर को पानी के साथ मिलाकर पीना लाभदायक होता है ।

0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *