Menu Close

कैसा हो टाइफाइड में खान पान ताकि जल्दी स्वस्थ हो जाये आप

टाइफाइड में खान पान

कई बार व्यक्ति अचानक बीमार पड़ सकता है। साधारण बुखार आ सकता है। इस दौरान हम कुछ दवाई लेकर ठीक हो जाते है, परंतु बुखार का बार बार आना टाइफाइड होने का संकेत देता है। इस बीमारी मे बहुत से लोगो को पता नही चलता है की उन्हे टाइफाइड हुआ है। व्यक्ति एक साधारण बुखार समझ कर दवाइया लेता रहता है, जिससे उसके पाचन तंत्र पर असर पड़ता है। यदि समय रहते आपको टाइफाइड का पता नही चलता और आप अपने खाने पीने मे गलत चीज़ों का इस्तेमाल कर लेते है तो इससे आपकी तबीयत और ज्यादा खराब हो सकती है। ऐसे में जरुरी है की आप टाइफाइड में खान पान का ध्यान रखे।

टाइफाइड क्या है?

टाइफाइड एक बुखार की तरह होता है जो दूषित पानी या दूषित भोजन का इस्तेमाल करने के कारण होता है। ये बीमारी अधिकतर गंदे बासी भोजन, गंदे पानी या अन्य खाने पीने की खराब चीजो से फैलती है। टाइफाइड एक तरह का संक्रामक बुखार है जो एक से दूसरे में आसानी से फैलता है। इसीलिए घर के एक सदस्य को टायफायड होने पर सबको सावधानी बरतनी चाहिए।

टाइफाइड के क्या क्या लक्षण है?

ज्यादतर टाइफाइड 1-2 सप्ताह तक रहता है। यह एक साधारण बुखार से ज्यादा से ज्यादा दिन लेता है। यदि यह बीमारी ज्यादा दिन तक चलती है तो इसमे कुछ लक्षण सामने आते है। जो यह बताते है की व्यक्ति टाइफाइड से ग्रसित है।

चलिये जानते है टाइफाइड के लक्षण

  • भूख में कमी
  • तेज सिर दर्द
  • तेज बुखार – 104 डिग्री
  • शरीर मे कमजोरी
  • पेट के परेशानी जैसे दस्त होना
    तेज बुखार
    तेज बुखार

टाइफाइड में खान पान

किसी भी बीमारी को दूर करने में सही तरीके से खाना पीना भी उतना ही महत्वूर्ण होता है जितनी की दवाइयां महत्वपूर्ण हैं। क्योकि दवाइयां सिर्फ बीमारी के कारण को ढूंढ़कर उन्हें खत्म करती हैं वो आपके शरीर में ऊर्जा नहीं डालती है। ऊर्जा पाने के लिए आपको पोषक तत्वों से भरपूर भोजन खाना बहुत आवश्यक है और दवाइयां भी तभी असर करेंगी जब आपका सही खानपान रहेगा। 

See also  शुगर लेवल कम होने के लक्षण, जिन्हें जानना आपके लिए है जरुरी

आज हम आपको बताएंगे कि टाइफाइड होने पर आपको क्या खाना चाहिए और क्या नहीं।

टायफाइड में क्या खाना- पीना चाहिए?

  • टाइफाइड में खिचड़ी,दाल, हरी पत्तेदार सब्जियां , पत्तागोभी, पालक, फूलगोभी, पपीता और गाजर खाना अच्छा है|
  • जल्दी से पच सकने वाले हल्के फुल्के फल और सब्जियां खाएं जैसे कि – आलू, पके हुए फल इत्यादि।
  • इस रोग में दही खाना बहुत फायदेमंड है। दही के सेवन से भूख और पेट की जलन दोनों में राहत मिलती है। परंतु अगर रोगी को जुकाम, खांसी या जोड़ो में दर्द की तकलीफ हो तो उन्हें दही नहीं खानी चाहिए|
  • अगर डायरिया ना हो तो 1 कप दूध या फिर पानी के अंदर 1 चम्मच जितना ग्लुकोज़ मिला दें और इसे पिएं। इस घोल को बार-बार पीने से ताकत मिलेगी।
  • दूध पीना बहुत फायदेमंद है। दूध पीने से दवाइयां शरीर में गर्मी नहीं करती हैं और शरीर को काफी उर्जा भी मिलेगी।
  • टाइफाइड के दौरान अनार का रस, संतरे का रस, नारियल पानी, गन्ने का रस, चुकंदर का रस और सेब का रस पीना बहुत अच्छा होता है। 
  • अलग अलग सब्जी का सूप भी फायदा करेगा। पर याद रखें सूप में किसी भी तरह के मसाले या दूसरी वस्तु ना मिलाएं।
  • टाइफाइड के दौरान वजन कम होना शुरू हो जाता है, इसलिए आपको ज्यादा मात्रा में प्रोटीन और कार्बोहाईड्रेट देने वाली चीज़े खानी चाहिए। 
  • एवोकाडो, ड्राई फ्रूट्स, खजूर और खुबानी जैसे खाद्य पदार्थो का सेवन करना बेहतर रहेगा।
  • संतरा, गाजर और आलू खाएं क्योंकि इनमें अधिक मात्रा में विटामिन्स पाए जाते हैं। विटामिन ए, बी और सी युक्त भोजन का सेवन आपको टाइफाइड से लड़ने में मदद करता है।
  • अगर टाइफाइड में कब्ज की शिकायत हो तो गुनगुने पानी में इसबगोल के दाने डालकर पीने से लाभ मिलेगा।
    कब्ज
    कब्ज

टाइफाइड मे क्या नही खाना चाहिए-Typhoid Me Kya Nahi Khana Chahiye

टाइफाइड में खान पान का धयान रखना बहुत जरुरी है नहीं तो आप टाइफाइड कमजोरी के शिकार हो सकते है। टाइफाइड कमजोरी होने पर आपके शरीर की सारी ऊर्जा खत्म हो जाती है। हमे टाइफाइड बीमारी के समय नीचे बताई गयी चीज़ों को नही खाना चाहिए।

  • टायफायड में तेल वाला और मसालेदार खाना नहीं खाना चाहिए। ये आपके डाइजेस्टिव सिस्टम को प्रभावित करता है और आपकी पाचनशक्ति को भी कमजोर करता है। टाइफाइड के समय व्यक्ति को स्पाइसी खाना बिलकुल नही खाना चाहिए। क्यूंकि स्पाइसी खाना हमारा पाचन तंत्र आसानी से पचा नहीं पाएगा। यह टाइफाइड को ज्यादा बढ़ा देगा।
  • टायफाइड में आपको कॉफी नहीं पीना चाहिए। कॉफी में कैफीन होता है, जो आपकी पाचन क्रिया के लिए अच्छा नहीं होता है। कॉफ़ी पीने से इस बीमारी में आपको दस्त की परेशानी हो सकती है।
  • जब व्यक्ति को टाइफाइड हो तो उसे घी नही का सेवन नही करना है। क्यूंकि हमारा शरीर मे घी पचाने के क्षमता खत्म हो चुकी होती है। घी खाना आपके लिए हानिकारक हो सकता है।
  • जंक फूड और बाहर के खानपान की चीज़ों से परहेज करें ।
  • टाइफाइड में गरिष्ठ पदार्थ, भारी और पेट में गैस पैदा करने वाली खानपान की चीजें नहीं लेनी चाहिए।
  • बासी, खुले रखे हुए भोजन या पानी का भूलकर भी सेवन ना करें।
  • टाइफाइड के दौरान परांठे, पूरी, नूडल्स, पिज़्ज़ा,मैगी, बर्गर और चटपटा मसालेदार खाना बिल्कुल ना खाएं।
  • इस बीमारी के दौरान मीट ना खाएं और अंडा भी ना खाएं। टाइफाइड में व्यक्ति को भूल कर भी अंडा नही खाना चाहिए। इसमे ज्यादा फेट होता है, जो हमारे पाचन क्रिया को कमजोर कर देता है।
  • टाइफाइड बीमार व्यक्ति को दो तीन सप्ताह तक मटन नही खाना चाहिए। मटन मे बहुत ज्यादा कार्बोहाइड्रेड होता है जो हमारे लीवर पर काफी असर पैदा करता है। इससे आपकी तबीयत ज्यादा खराब हो सकती है।
  • टाइफाइड के समय व्यक्ति को ओइली खाना नही खाना चाहिए। यह व्यक्ति के लिवर व पाचन क्रिया पर नकारात्मक प्रभाव डालता है।
See also  डेंगू बुखार के लक्षण व उपचार, जो आपके लिए जानना है जरुरी

टाइफाइड ठीक होने के बाद ताकत के लिए क्या खाना चाहिए?

  • टाइफाइड में आई कमजोरी दूर करने के लिए किशमिश, मूंग की पतली दाल, मुनक्का, पतला दलिया, उबला हुआ दूध, मक्खन, दही आदि का सेवन बहुत फायदेमंद होता है।
  • बादाम खाना भी बहुत अच्छा है। इससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और ये आपके ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाता है। बादाम खाने से आपका घटा हुआ वजन भी संतुलित बनता है।
  • हल्के गर्म पानी में 1 चम्मच नींबू रस मिलाइए और इसे खाली पेट पी लीजिए। ऐसा करने से आपकी पाचन क्रिया बहुत अच्छी हो जाएगी। नींबू में विटामिन सी होता है, जो लीवर को मजबूत बनाता है तो आपको पेट की समस्या से निजात मिलेगा।
  • दही में भरपूर प्रोटीन होता है। दही खाने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है और आपके शरीर को बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता मिलती है। इसलिए दही का सेवन जरूर करें।
  • टमाटर सूप में अधिक कैलोरी होती है और आसानी से पच भी जाता है, इसलिए टायफाइड बुखार में टमाटर खाएं और दूसरी सब्जियों के सूप भी पिएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!