मेन्यू बंद करे

जानिए क्या है लीवर की सूजन के लक्षण और कारण-Liver Me Sujan Ke Lakshan

लीवर की सूजन के लक्षण

लिवर शरीर में सबसे बड़े आकार का अंग होता है। इस अंग का काम होता है, भोजन को पचाकर एनर्जी कलेक्ट करना तथा टॉक्सिन्स को शरीर से बाहर निकालना। कई बार लिवर में सूजन आ जाती है, लिवर में सूजन आने के कई कारण हो सकते है जैसे दवाइयों का साइड इफ़ेक्ट, अल्कोहल, केमिकल व अन्य ऑटोइम्यून रोग। आज इस आर्टिकल में लिवर में सूजन के कारण और लीवर की सूजन के लक्षण की बात करेंगे।

लिवर में सूजन आने को हिपेटोगीमेली भी कहते है। कई बार लोगो को समझ ही नही आता कि उनके लिवर में सूजन है।

लिवर का कार्य

  • लिवर शरीर के लिए एक छलनी की तरह काम करता है और टॉक्सिन्स को शरीर से बाहर निकालता है।
  • टॉक्सिन्स के बाहर निकलने के कारण शरीर को ऊर्जा मिलती है।
  • लिवर पाचन के लिए जरूरी रसों को रिलीज करता है।

हिपेटोगीमेली का अर्थ

लिवर की सूजन यानी हिपेटोगीमेली का मतलब सिर्फ ये नही की, लिवर अपने आकार बड़ा हो जाता है। बल्कि लिवर अपने कार्य करने का तरीका बदल देता है।

लिवर के कार्य करने का तरीका बदलते ही, शरीर पर बुरा असर दिखने लगता है। इससे शरीर के अन्य अंगों की कार्य क्षमता पर भी असर पड़ता है। इसके साथ ही बहुत सी समस्याएं उत्तपन्न हो जाती है।

लीवर की सूजन के लक्षण-Liver Me Sujan Ke Lakshan

बिना किसी टेस्ट के ये पता लगाना की लिवर में सूजन है या नही, थोड़ा मुश्किल है। फिर भी कुछ लक्षणों के आधार पर ये अंदाजा लगाया जा सकता है कि लिवर में कहीं कोई दिक्कत तो नही।

आइए आपको लीवर की सूजन के लक्षण जो की बहुत सामान्य है, के बारे में बताते है।

पेट में दर्द

लिवर की सूजन की शुरुआत में पेट मे हल्का हल्का दर्द शुरू होता है। ये दर्द खासतौर पर पेट के लेफ्ट साइड में थोड़ा ऊपर की तरफ होता है।

यदि लंबे समय तक इन लक्षणों को नजर अंदाज किया जाए तो दर्द धीरे धीरे बढ़ने लगता है।

पेट का आकार बढ़ना

जब लिवर की सूजन को काफी समय बीत जाता है तो पेट फूला हुआ और थोड़ा बड़ा दिखता है। पेट बेढंगे तरीके से बढ़ता है, आप ध्यान से देखेंगे तो हल्का सा एक तरफ फूला हुआ दिखता है।

बुखार

यूं तो बुखार किसी भी वायरस, बैक्टीरिया, या इन्फेक्शन के कारण होता है। किंतु यदि आपको लगातार हल्का हल्का बुखार बना रहता है तो हो सकता आपके लिवर में सूजन हो।

लेकिन केवल बुखार होने इसका प्रमाण नही है, साथ मे अन्य लक्षणों पर भी ध्यान दे।

शरीर का पीला पड़ना

शरीर का पीला पड़ना या पीलिया लिवर में किसी न किसी दिक्कत के कारण होता है। लिवर में सूजन के कारण आँखों और त्वचा का रंग पीला पड़ने लगता है।

वोमिट आना

जैसा कि आपको ऊपर बताया, की लिवर का मुख्य काम शरीर के टॉक्सिन्स को बाहर निकालना हैं, ऐसे में अगर लिवर ही सही से काम नही करेगा तो टॉक्सिन्स शरीर से नही निकलेंगे।

इस कारण टॉक्सीन्स वोमिट के रूप में बाहर निकलते है। इसी कारण व्यक्ति तला भुना,व मसालेदार खाना नही पचा पाता।

मल मूत्र की असामान्यता

कहते है कि शरीर मे होने वाले किसी बदलाव का सबसे पहला असर मल मूत्र पर होता है। इसलिए यदि आपको लिवर की सूजन का कोई भी लक्षण दिखाई दे रहे हो, तो अपने मल मूत्र को ध्यान से देखें।

यदि लिवर में सूजन है तो मल का रंग बहुत हल्का यहां तक कि लगभग सफेद भी हो सकता है। साथ ही मूत्र में एसिड की अधिकता से मूत्र में गाढ़ापन आ जाता हैं।

मुहं में बदबू होना

लिवर का खराब होना मतलब टॉक्सीन्स का शरीर से निस्तारण बन्द, जब टॉक्सीन्स शरीर से नही निकलेंगे तो वो शरीर मे ही विचरण करेंगें।
इस कारण ये टॉक्सीन्स मुहं तक पहुंचकर मुहं में बदबू पैदा करते है। इस कारण व्यक्ति के मुहं का स्वाद सदैव कसैला बना रहता है।

लीवर की सूजन क्यों आती है-Liver Me Sujan Ke Karan

लिवर में सूजन इन कारणों से आ सकती है।

  • अल्कोहल का जरूरत से ज्यादा सेवन
  • बैक्टीरियल इन्फेक्शन
  • हैपेटाइटिस लिवर की सूजन का बहुत बड़ा कारण है।
  • दवाईओ का नशा करना
  • फैटी लिवर

लिवर का रामबाण इलाज-Liver Thik Karne Ke Upay

अब आपको लिवर की सूजन के घरेलू उपचार बताएंगे।

एप्‍पल साइडर विनेगर

लिवर को स्वस्थ्य रखने के लिए एप्पल साइडर विनेगर एक अच्छा ऑप्शन है। विनेगर लिवर से विषाक्‍त पदार्थों को बाहर निकाल देता है।
एप्पल साइडर विनेगर लेने के लिए रोज एक चम्मच विनेगर को एक कप गुनगुने पानी में मिलाकर ले।

नींबू

विटामिन सी से भरपूर नींबू इम्युनिटी और एंटीऑक्‍सीडेंट का सोर्स है। इसका एंटीऑक्सीडेंट गुण लिवर सेल्स को स्वस्थ्य रखता है। एक कप पानी में आधा नींबू निचोड़ें और एक चम्‍मच शहद डालकर रोज सुबह पिएं।

हल्‍दी

यदि लिवर की सूजन का कारण शराब या किसी का प्रकार का नशा नही है, तो हल्दी आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प है। एक गिलास पानी लें और उसे उबालने के लिए रख दें। अब इसमें एक चुटकी हल्‍दी डालें। आप चाहें तो इसमें नींबू का रस भी डाल सकते हैं। मिक्‍स कर के रोज सुबह इस गुनगुने पानी का सेवन करें।

आंवला

आंवले में क्‍यूरसेटिन नामक फाइटोकेमिकल होता है जो लिवर कोशिकाओं के ऑक्‍सीडेटिव स्‍ट्रेस को कम कर सकता है। आंवले को किसी भी रूप में ले, लेकिन मुरब्बा या अचार अवॉयड करें। आंवले को उबालकर, या उसका जूस प्रयोग करें।

दालचीनी

दालचीनी का प्रयोग लिवर की सूजन में रामबाण है। इसका प्रयोग, हल्दी दालचीनी टी के रूप में कर सकते है।इसके सूजन-रोधी गुण ज्‍यादा शराब के कारण लिवर में आई सूजन को कम करते हैं

​डैंडलियोन टी

एक कप पानी में चार से पांच डैंडलियोन के फूलों को एक से दो मिनट तक उबालें। अब इस पानी को छानकर पी लें। डैंडलियोन में पॉवरफुल बायोएक्टिव यौगिक होते हैं जो शरीर में कोलेस्‍ट्रोल के लेवल को कम कर सकते हैं।

लिवर की सूजन बहुत गम्भीर स्थिति नही है, उचित देखभाल, सही जीवन शैली, नशीले पदार्थ से दूरी और हेल्थी खानपान से इसे ठीक किया जा सकता है।

0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *