मेन्यू बंद करे

जानिए क्या है हेमपुष्पा पीने के फायदे-Hempushpa Ke Fayde In Hindi

हेमपुष्पा पीने के फायदे

हेमपुष्पा एक आर्युवेदिक औषधि है। हेमपुष्पा स्त्रियों के लिए बहुत उपयोगी औषधि है। हेमपुष्पा महिलाओं में मासिक धर्म के समय होने वाली परेशानियों को दूर करने में सहायक होती है। महिलाओं को हेमपुष्पा पीने के फायदे बहुत सारे है।

हेमपुष्पा पीने के फायदे-Hempushpa Ke Fayde In Hindi

हेमपुष्पा का सेवन रक्त शुद्धि में मदद करता है। हेमपुष्पा मानसिक व शारीरिक विकारों में सामान रूप से उपयोगी है। हेमपुष्पा उन महिलाओं के लिए भी जिन्हे कोई भी समस्या नहीं है उपयोग किया जाता है। हेमपुष्पा निरोगी महिलाओं को स्वस्थ व ऊर्जावान बनाने में मदद करती है।

हेमपुष्पा उपयोगी है मूत्र समस्या के निदान में

हेमपुष्पा यूरिन को साफ़ करने में मद करती है। पेशाब के पीलेपन को दूर करती है। पेशाब के समय होने वाली जलन को दूर करती है। हेमपुष्पा मूत्र की अशुद्धियों को साफ करके पेशाब में होने वाली जलन को दूर करने में कारगर है।

हेमपुष्पा लाभदायक है वजन घटाने में

हेमपुष्पा में पायी जाने वाली औषधियां शरीर के हानिकारक टोक्सिन को दूर करती हैं। हेमपुष्पा शरीर से विषैले पदार्थों को बाहर निकाल कर वजन घटाने में मदद करती है। हेमपुष्पा के नियमित प्रयोग से शरीर फुर्तीला एवं हल्का होता है।

हेमपुष्पा गैस्ट्रिक समस्याओं को दूर करती है

हेमपुष्पा पेट में बनने वाली गैस की समस्या को दूर करने में उपयोगी है। हेमपुष्पा छोटी आंत व बड़ी आंत की बिमारियों को दूर करती है। हेमपुष्पा आँत के विचारों को दूर कर गैस की समस्या का समाधान करती है।

हेमपुष्पा हार्मोनल असंतुलन को दूर करती है

हेमपुष्पा में पायी जानेवाली जड़ी बूटियां हार्मोनल असंतुलन को दूर करने में सहायक हैं। महिलाओं में किशोरावस्था से लेकर प्रौढ़ावस्था तक अनेक मानसिक एवं शारीरिक परिवर्तन आते हैं। इन परिवर्तनों के कारण हार्मोनल डिस्बैलेंस भी होते हैं।

इन हार्मोनल असतुंलन की वजह से मुहांसे ,अनिद्रा, बालों का झड़ना ,अनचाहे बाल, वजन का बढ़ना या कम होना, चिंता एवं तनाव आदि हो जाते हैं। हेमपुष्पा हार्मोनल असंतुलन को दूर कर शरीर को स्वस्थ रखती है।

हेमपुष्पा मासिकधर्म की अनियमितताओं को दूर करती है

हेमपुष्पा के नियमित सेवन से महिलाओं की अनियमित मासिक चक्र की समस्या दूर होती है। कुछ महिलाओं में मासिक चक्र बहुत जल्दी जल्दी आता है जिसके कारण शरीर में खून की कमी हो जाती है।

कुछ महिलाओं में मासिक चक्र की अवधि बढ़ जाती है। इन मासिक विकारों में शरीर असहनीय दर्द होता है। हेमपुष्पा मासिक विकारों को दूर करती है।

हेमपुष्पा रजोनिवृति में लाभदायक

महिलाओं में 45 से 50 वर्ष की उम्र में रजोनिवृत्ति होती है। इस समय स्त्रियों में मानसिक एवं शारीरिक परिवर्तन होते हैं। इस समय शरीर एस्ट्रोजन हार्मोन बनाना बंद कर देता है। एस्ट्रोजन हार्मोन के कारण मासिक धर्म शुरु होता है। मासिक धर्म बंद होने से शारीरिक थकान, कमर दर्द, पीठ दर्द आदि की समस्या होती है। हेमपुष्पा इन तकलीफों को दूर करती है।

हेमपुष्पा गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फ़ायदेमंद

हेमपुष्पा में पायी जाने वाली औषधियां गर्भवती महिलाओं की समस्याओं को दूर करती हैं। गर्भवती महिलाओं को कमज़ोरी ,थकान, भूख न लगना आदि समस्याएं हैं। मॉर्निंग सिकनेस, भूख में कमी, खून की कमी आदि में भी हेमपुष्पा लाभदायक है।

हेमपुष्पा एनीमिया में उपयोगी

हेमपुष्पा में पायी जाने वाली गुणकारी औषधियां खून की कमी को दूर करती हैं। हेमपुष्पा में पाए जाने वाले तत्व शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ाने में उपयोगी हैं।

हेमपुष्पा लाभकारी है पीरियड्स में

हेमपुष्पा माहवारी के समय होने वाले दर्द को कम करने में फ़ायदेमंद हैं। अगर हम दर्दनिवारक दवाओं का प्रयोग दर्द दूर करने मे करेंगे तो कुछ समय बाद हमारे शरीर में दवाएं नुक्सान करना शुरू कर देती हैं। पर आर्युवेदिक हेमपुष्पा दवा के कोई साइड इफेक्ट नहीं होते। हेमपुष्पा के कुछ समय प्रयोग से शरीर के अंदर ताकत आती है। हेमपुष्पा के नियमित प्रयोग से शरीर में दर्द सहन करने की शक्ति आती है।

हेमपुष्पा लेने का तरीका

हेमपुष्पा सिरप के साथ टेबलेट आती है हेमपुष्पा सिरप को २ टीस्पून पानी के साथ लेना है सुबह शाम लेना है व इसमें जो टेबलेट होती है। उस टेबलेट को खाने के बाद सुबह और शाम को लेना है।

हेमपुष्पा में पायी जाने वाली औषधियां

हेमपुष्पा में अनेकानेक जड़ी बूटियां डाली गयी हैं जिनमे से कुछ नाम यहाँ दिए हैं .

  • शतावरी
  • अस्वगंधा
  • नागरमोथा
  • धैफुल
  • गंभारी
  • बाख
  • पुननर्वा
  • मूसली

ये सभी आर्युवेदिक गुणों से भरपूर प्राकृतिक जड़ी बूटियां हमारे शरीर को अंदर से शक्ति प्रदान करती हैं। आर्युवेदिक जड़ी बूटियों के प्रयोग से बनी होने के कारण हेमपुष्पा के साइड इफेक्ट्स नहीं होते।

हेमपुष्पा के कुछ अन्य लाभ

  • हेमपुष्पा पीरियड्स डिले होने पर बहुत उपयोगी है। हेमपुष्पा लगातार लेने से पीरियड्स फिर से नियमित हो जाते हैं।
  • हेमपुष्पा हार्मोनल असंतुलन को दूर करती है।
  • हेमपुष्पा मुहांसों को ठीक करती है।
  • हेमपुष्पा मासिक धर्म को नियमित करता है।
  • हेमपुष्पा गर्भवती महिला के लिए बहुत लाभदायक है।
1 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *