मेन्यू बंद करे

जानिए क्या है पतंजलि मूसली पाक के फायदे और कैसे करे उपयोग

पतंजलि मूसली पाक के फायदे

सफेद मूसली को एक ऐसी जड़ी बूटी के रूप में जाना जाता है जो बहुत ही को शक्तिवर्द्धक होती है। आयुर्वेद में इस जड़ी बूटी का काफी जिक्र होता है। मूसली के जड़ और बीज का उपयोग आयुर्वेद औषधि के रूप में किया जाता है।

आपको जानकर हैरानी होगी कि मूसली में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, फाइबर, कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम आदि भरपूर मात्रा में होते है। आज इस लेख में हम आपको मूसली विशेषतः पतंजलि की मूसली पाक के फायदे बताएंगे। पतंजलि अब एक बहुत बड़ा ब्रांड बन चुका है। लोग उस पर भरोसा करते है और पतंजलि इस खरा उतरने का पूरी कोशिश कर रही है।

क्या है मूसली

मोटी और गुच्छो वाली जड़ की मुसली में सफेद फूल होते है। मूसली स्वाद में हल्की मीठी, सेक्स increase करने वाली, कफ को कम करने वाली होती है।

इसका प्रयोग डिलीवरी के बाद ब्रैस्ट मिल्क बढ़ाने में भी होता है। मूसली को हृदय रोग, मधुमेह, पाइल्स, स्वास रोग तथा एनिमिक रोगियों को फायदा करती है।

मूसली का वानस्पतिक नाम Chlorophytum borivilianum Santapau R.R.Fern. (क्लोरोफायटम बोरिबिलिएनम्)  है। सफेद मूसली Liliaceae (लिलिएसी) कुल का है। सफेद मूसली दुनिया भर में भिन्न-भिन्न नामों से जाना जाता है,

अब हम बात करते पतंजलि के प्रोडक्ट मूसली पाक के बारे में, खासतौर पर पतंजलि मूसली पाक का प्रयोग पुरूषों के शक्तिवर्धक के रूप में होता है। पतंजलि मूसली पाक 200 ग्राम की मात्रा में मिलता है।

पतंजलि मूसली पाक के फायदे

पतंजलि मूसली पाक निम्न समस्याओं में फायदा करता है।

सामान्य कमजोरी

कभी कभी पोषक तत्वों की कमी या अनियमित दिनचर्या से कमजोरी महसूस होने लगती है। ऐसे में पतंजलि मूसली पाक बहुत फायदेमंद रहता है।

मर्दाना कमजोरी

कुछ पुरुषों में कम स्पर्म काउंट की समस्या होती है, वहीं कुछ में सेक्स की इच्छा ही नही होती। ऐसा किसी भी फिजिकल प्रॉब्लम, मेडिसिन साइड इफ़ेक्ट, या स्ट्रेस के कारण हो सकता है।

पतंजलि मुसली पाक इसके लिए परफेक्ट है यह शीघ्रपतन को भी दूर करती है साथ ही व्यक्ति को बल, ताकत, ओज, और आयुष्य देती है।

महिलाओं के लिए

मूसली पाक को बहुत से लोग केवल पुरुषों के लिए लाभप्रद मानते है। जबकि यह महिलाओं के लिए भी उतना ही असरकारक है।

अन्य फायदे

  • इम्युनिटी बढ़ाती है।
  • पेट के रोग जैसे पेट दर्द, अपच, भूख न लगना में फायदेमंद है।
  • स्पर्म्स की गुणवत्ता को बेहतर करती है।
  • दस्तों में लाभप्रद है।

पतंजलि मूसली पाक में इस्तेमाल होने वाली सामग्री

  • अश्वगंधा
  • जायफल
  • अकरकरा
  • शतावर की जड़
  • गाय का घी
  • वंशलोचन
  • सफ़ेद मुसली
  • कौंच बीज
  • इलायची
  • दालचीनी
  • गोखरू दाना
  • लौंग
  • काली मिर्च
  • ताल-मखाना
  • चीनी
  • वंग भस्म
  • कमलगट्टा
  • मकरध्वज भस्म
  • जावित्री
  • सौंठ
  • पीपल
  • हरड़ छिलका
  • बला बीज
  • तेज पत्ता
  • चित्रक

पतंजलि मुसली पाक को कैसे ले।

पतंजलि मूसली पाक के सेवन के बारे में चिकित्सक से सलाह जरूर करे। वैसे आप पतंजलि मूसली पाक को दिन में 2 बार एक चम्मच ले। इसे आप सुबह-शाम खाने के 1 घंटे बाद गर्म दूध या गर्म पानी से ले।

सेवन करते समय बरते कुछ सावधानियां

  • बच्चो को भूलकर भी इसका सेवन न कराए।
  • दूसरी दवाओं के साथ पतंजलि मूसली पाक को लेने से पहले डॉक्टर से कंसल्ट करे।
  • ज्यादा मात्रा में दवा लेने से ज्यादा फायदे की जगह नुकसान होगा। पेट मे दिक्कत हो सकती है ध्यान रखे।
  • अगर आप आयुर्वेदिक दवाओं के लिए सेंसीटिव है तो इसके प्रयोग से बचे।
  • इसके साथ अल्कोहल बिल्कुल न ले।
  • यदि आप गर्भवती है या बच्चे को स्तनपान करा रही है, डॉक्टर से विचार विमर्श के बाद ही इसका सेवन करे।
  • पतंजलि मूसली पाक का खाली पेट सेवन न करे, भोजन के बाद ही ले।
  • यदि आप पतंजलि मूसली पाक का लगातार इस्तेमाल करते है तो इसकी लत नहीं पड़ती है।
0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *