मेन्यू बंद करे

स्वाद और गुणों से भरपूर टमाटर का सूप के फायदे

टमाटर के सूप के फायदे

एक ऐसी सब्जी जिसके बिना आधी सब्जियों का सब्जियो का रंग और स्वाद ही गायब हो जाएगा। जी हां हम बात कर रहे है टमाटर की। टमाटर का प्रयोग कई तरीके से किया जाता है जैसे चटनी में, सलाद में, सब्जी पकाने में। लेकिन टमाटर का सूप एक ऐसी चीज़ है जो शादियों में खाने से पहले लोग पीते ही है। कारण ? यही की भूख खुलकर लगेगी। हास्यास्पद बात है पर है सोलह आने सच। दरअसल टमाटर में फाइबर, खनिज, विटामिन और कार्बनिक अम्ल बहुतायत से पाए जाते है।

टमाटर में पाए जाने वाले पोषक तत्व

पोषक तत्व  मात्रा

प्रोटीन 0.9 ग्राम
कार्ब्स 3.9 ग्राम
चीनी 2.6 ग्राम
फाइबर 1.2 ग्राम
फैट 0.2 ग्राम
एनर्जी या उर्जा 18 कैलोरी
विटामिन सी 13 मिली ग्राम
विटामिन इ 0.54 मिली ग्राम
विटामिन के 7.9 माईक्रो ग्राम
सोडियम 5 मिली ग्राम
पोटैशियम 237 मिली ग्राम
कैल्सियम 10 मिली ग्राम
आयरन 0.3 मिली ग्राम
मैग्नीशियम 11 मिली ग्राम

टमाटर में सूप के फायदे-Tomato Soup Ke Fayde

कैंसर के खतरे को कम करे

टमाटर के सूप में लाइकोपीन, कैरोटीनॉयड, विटामिन सी, बीटा कैरोटिन, एंटीऑक्सीडेंट होते है। ये सभी तत्व कैंसर के कणों को शरीर पर हावी नही होने देते। एंटीऑक्सिडेंट, ऑक्सीडेटिव तनाव और पुरानी सूजन को कम करते हैं। यह स्त्री पुरुष दोनों में कैंसर के खतरे को कम करता है।

सूखा रोग

सूखा रोग से पीड़ित बच्चो को टमाटर के सूप से बहुत फायदा होता है। लेकिन सूखा में सूप केवल कच्चे टमाटरों से बनाया जाता है। सूखा रोग से पीड़ित व्यक्ति को इसका नियमित सेवन करवाना चाहिए।

सुंदरता बढ़ाये

टमाटर का सूप मतलब सौंदर्य का खजाना, टमाटर में मौजूद विटामिन सी और दूसरे तत्व त्वचा की सुंदरता बढ़ाता है। टमाटर के सूप के सेवन से त्वचा में निखार आता है, दाग धब्बे दूर होते है। खुले रोमछिद्र बन्द होते है।

दिल को तन्दरुस्त करे

टमाटर का सूप कैपिलरी और वेंस में फैट के जमाव को रोकता है। बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करता है। टमाटर में उपस्थित लाइकोपिन ब्लड वेसल्स की इनर लेयर को सेफ करती है। जिस कारण ब्लड क्लॉट नही होता और हार्ट अटैक का खतरा कम हो जाता है।

गर्भवती महिलाओं के लिए फायदेमंद

गर्भवती महिलाओं को आने वाली उबकाई टमाटर के सूप से कम होती है। एक तरफ ये गर्भवती महिला का स्वाद ठीक करता है वहीं इसमे मौजूद विटामिन सी उसकी इम्युनिटी बढ़ाता है। इसमे फ़ोलिक एसिड होता है, जिसका सेवन गर्भावस्था के दौरान गर्भस्थ शिशु को न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट से बचाता है।

गाउट के उपचार में

गाउट के मरीजो को भी टमाटर का सूप देने से उनमे पॉजिटिव रिजल्ट दिखाई दिए है। गाउट के मरीजों को टमाटर के जूस में आजवाईन मिलकर पिलाना चाहिए. ऐसा नियमित करने से उन्हें दर्द में भी आराम मिलता है।

डायबिटीज के लिए परफेक्ट

डायबिटीज के मरीजो को अपनी डाइट में टमाटर का सूप जरूर रखना चाहिए। क्योंकि इसमें उपस्थित क्रोमियम,ब्लड शुगर के रेगुलेशन में मदद करता है। लेकिन ध्यान रहे कि डायबिटीज के मरीज मीठा डालकर सूप न पिएं।

खून की कमी दूर करें

टमाटर के सूप में उपस्थित सेलेनियम खून के दौरे को बेहतरीन रखता है। यह खून की कमी दूर करके एनीमिया से बचाता है।

मोटापा घटाए

टमाटर के सूप में काफी मात्रा में फाइबर और पानी होता है। इस कारण ये काफी समय तक फुल होने की फीलिंग देता है। इसलिए टमाटर के सूप को अपनी डाइट में जरूर रखे, खासकर यदि आप वजन कम करने की सोच रहे है।

पेट के कीड़े मारे

बच्चों के पेट में कीड़ा हो जाने पर उन्हें थोड़े थोड़े अंतराल पर टमाटर का सूप देना चाहिए। ऐसा करने से उनका पेट साफ होगा और कीड़े शौच के रास्ते निकल सकते है।

इन सब फायदों के अलावा, टमाटर का सूप अवसाद से लड़ने और आंखों की रोशनी बढ़ाने में मदद करता है।

0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *