Menu Close

जानिए क्या है मुनक्का के बीज के फायदे आपकी सेहत के लिए

मुनक्का के बीज खाने से फायदा

आज हम आपको मुनक्का के बीज के फायदे के बारे में बताएंगे। मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व जैसे की मेग्नीशियम, सोडियम, पोटेशियम, जस्ता, फास्फोरस, मैगनीज, आयरन और कैल्शियम आदि पाए जाते हैं। ये पोषक तत्व हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक और फायदेमंद होते हैं। दिखने में मुनक्का बहुत छोटी होती है पर बहुत ही गुणकारी होती है। मुनक्का में वसा की मात्रा ना के बराबर होती है। मुनक्का खाने में हल्की और सुपाच्य होती है।

Contents hide

मुनक्का को बड़ी दाख (रेजिन) के नाम से भी जाना जाता है। साधारण दाख यानि किशमिश और मुनक्का में इतना फर्क सिर्फ इतना है कि मुनक्का बीज वाली होती है और किशमिश से अधिक गुणकारी होती है। आयुर्वेद में मुनक्का को कई रोगों की सर्वश्रेष्ठ औषधि माना गया है।

मुनक्का के बीज के फायदे

मुनक्का के बीज से आपको यह सब फायदे मिलते हैं जिनको जानकर आप आश्चर्यचकित हो जाएंगे।

नोट – यदि आपको किसी भी प्रकार की कोई बीमारी है तो मुनक्का के बीज का सेवन करने से पहले अपने नजदीकी डॉक्टर से सलाह जरूर से लें।

आंखों के लिए उपयोगी

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में विटामिन A पाया जाता है जो हमारी आंखों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। मुनक्का में बीटा कैरोटीन पाया जाता है। विटामिन A और बीटा कैरोटीन से हमारी आंखों की रोशनी बढ़ती है। 5-7 मुनक्का को रात में पानी में भिगो कर रख दें और सुबह उठकर इसका सेवन करे।

विटामिन A
विटामिन A

त्वचा के लिए उपयोगी

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट तत्व पाया जाता है जो हमारे शरीर की त्वचा पर होने वाले नुकसान से बचाता हैं और मुनक्का के बीजों का रोजाना सेवन करने से आपकी हमारी त्वचा स्वस्थ एवं चमकदार बन जाती है। रात में मुनक्के को पानी में भिगो कर रख दे। सुबह इस पानी को भी पिए। मुनक्के का पानी हमारे शरीर में मौजूद टॉक्सिन बाहर निकालकर शरीर को डिटॉक्स करता है, जिससे हमारी त्वचा चमकदार बनती है।

See also  जानें क्या हैं सोते समय ग्रीन टी पीने के फायदे

यौन दुर्बलता को दूर करने में सहायक

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में एमिनो एसिड पाया जाता है जो हमारे शरीर में यौन दुर्बलता को दूर करने में सहायता प्रदान करता है।

हड्डियों को मजबूत बनाने में सहायक

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में पोटेशियम व कैल्शियम पाया जाता है। मुनक्का के बीज हमारी हड्डियों को और मजबूत बनाता है। कैल्शियम की कमी के कारण हमारे शरीर में जो रोग होता है वह हमारी हड्डियों को कमजोर व नाजुक बना देता है।

बालों को स्वस्थ रखने में सहायक

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में आयरन पाया जाता है जो हमारे बालों के लिए बहुत जरूरी होता है क्योंकि आयरन की कमी के कारण हमारे बाल झड़ने लगते हैं और बालो से संबंधित रोग होने लग जाते हैं।

बुखार और जुकाम को ठीक करने में सहायक

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में फिनोलिक पायथोन्यूट्रीएंट और जर्मिशिडल के साथ साथ एंटीओक्सीडेंट जैसे तत्व पाए जाते हैं जो हमारे शरीर में बुखार व जुकाम जैसी बीमारियों से छुटकारा पाने में सहायता प्रदान करते है।

खून की कमी को दूर करने में सहायक

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में कॉपर पाया जाता है जो हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में सहायता प्रदान करता है जिसके कारण हमारे शरीर में खून की बढ़ोतरी होने लगती है।

कब्ज से राहत दिलाने में सहायक

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में फाइबर, कैल्शियम और एंटी-ऑक्सीडेंट जैसे तत्व पाए जाते हैं ये तत्व हमारे पेट के अंदर जाकर वहाँ का सारा पानी सोख लेते हैं जिसके कारण कब्ज जैसी गंभीर बीमारी से छुटकारा मिलता है।

ह्रदय के लिए फायदेमंद

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा मे पोटेशियम पाया जाता है जो हमारे शरीर में रक्तचाप को कम करता है पोटेशियम हमारे शरीर में रक्तचाप को कम करने के साथ-साथ इम्यूनिटी को भी बढ़ाता है जिसके कारण हृदय संबंधित रोगों से छुटकारा मिलता है।

दांतो को स्वस्थ रखने में सहायक

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में ओलेनोलिक नामक एसिड पाया जाता है जो हमारे शरीर में जाकर दांतों को सुरक्षित लगता है और इसके साथ-साथ हमारे दांतो को मजबूत रखने में भी सहायता प्रदान करता है।

बच्चों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद

मुनक्का के बीज बच्चों के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। बहुत बार देखा जाता है कि बच्चे महीने में 5 से 6 बार बीमार पड़ जाते हैं।  मुनक्का के बीजों का सेवन करने से उन रोगों से काफी हद तक छुटकारा मिल सकता है।

गले के संबंधित रोगों को दूर करने में सहायक

मुनक्का के बीज में प्रचुर मात्रा में एंटी बैक्टीरिया नामक तत्व पाए जाते है जो हमारे गले के लिए बहुत फायदेमंद होते है क्योंकि यह हमारे गले में होने वाली खराश व खुजली जैसी बीमारियों को ठीक करने में सहायता प्रदान करता है।

See also  जानिए क्या है ग्रीन कॉफी के फायदे-Benefits Of Green Coffee In Hindi

यदि आप रोजाना मुनक्का के बीजों का सेवन करते हैं या रोजाना मुनक्का के बीजों को खाते हैं तो आपको यह सब फायदे मिलेंगे।

यदि आपका मुनक्का के बीजों से संबंधित कोई भी सवाल है तो आप हमें कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं।  हम आपके कमेंट का जल्द से जल्द जवाब देने का प्रयास करेंगे ।

मुनक्का के बीजों की यह जानकारी अपने दोस्तों और अपनी सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें ताकि आपके दोस्तों को भी मुनक्का के बीजों के फायदों के बारे में पता चल सके।

सामान्य प्रश्न

क्या मुनक्का के बीज खाने चाहिए?

मुनक्का के बीजों का सेवन करना चाहिए ।मुनक्का के बीजों में प्रचुर मात्रा में कॉपर पाया जाता है जो शरीर में खून की कमी का दूर करता है। मुनक्का के बीजों में प्रचुर मात्रा में फाइबर और एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कब्ज की समस्या को दूर करते हैं, मुनक्का के बीज में पोटेशियम पाया जाता है जो रक्तचाप को नियंत्रित करता है , यह हृदय रोगों में भी बहुत लाभदायक है। मुनक्का के बीजों का प्रयोग फायदेमंद तो है परंतु अधिक मात्रा में मुनक्का के बीजों का सेवन करने से हमारे शरीर में मोटापा बढ़ सकता है और मधुमेह की समस्या भी हो सकती हैं। मुनक्का के बीजों में पाए जाने वाले प्राकृतिक तत्वों को हमारा शरीर आसानी से पचा नहीं सकता मुझे अधिक सेवन से हमें पेट फूलना उल्टी और गैस की समस्या भी होती है ।

मुनक्का का सेवन कैसे करना चाहिए?

मुनक्का हमारे शरीर के लिए बहुत लाभदायक है। मुनक्का की तासीर गर्म होती हैं इसलिए अधिकांश इसका सेवन सर्दियों में किया जाता है। मुनक्का का सेवन करने से पहले उसे रात भर पानी में भिगोकर रखना चाहिए और सुबह खाली पेट इसका सेवन करना चाहिए । मुनक्का का सेवन गर्मियों में भी किया जा सकता है परंतु गर्मियों में इसका सेवन बहुत ही सीमित मात्रा में करना चाहिए । आप यदि चाहे तो सर्दियों में रात में भी मुनक्का का सेवन कर सकते हैं इसके मुनक्का को चार से पांच घंटे पानी में भिगो कर रखें और उसके बाद में दूध के साथ इन भीगे हुए मुनक्का का सेवन करें। यह शरीर में खून की कमी को दूर करने का रामबाण उपाय है।

खाली पेट मुनक्का खाने से क्या क्या बीमारी खत्म होगी?

रोजाना सुबह खाली पेट भीगे मुनक्का खाना बहुत लाभदायक होता है। मुनक्का में कैल्शियम पाया जाता है जो हड्डियों को मजबूत करता है । मुनक्का का सेवन शरीर में रक्त की कमी को दूर करता है । मुनक्का में फाइबर और एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कब्ज की समस्या को दूर करते हैं। मुनक्का में विटामिन ए और बीटा कैरोटीन पाया जाता है जो नेत्र ज्योति को बढ़ाता है । मोटापे की समस्या से ग्रसित लोगों के लिए मुनक्का बहुत ही लाभदायक होता है। खाली पेट भीगे मुनक्का खाने से त्वचा चमकदार होती है। ह्रदय रोग में भी है लाभदायक है और यह उच्च रक्तचाप की समस्या को भी दूर करता है।

See also  आंवला चूर्ण ओर शहद के फायदे जानकर आप हो जाएंगे हैरान

मुनक्का और किशमिश में कौन ज्यादा फायदेमंद है?

मुनक्का और किशमिश दोनों ही अंगूर से बनते हैं और बहुत लाभदायक होते हैं परंतु यदि दोनों के बीच तुलना की जाए तो आयुर्वेद के अनुसार मुनक्का अधिक फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व शरीर के लगभग सभी अंगों के लिए लाभदायक होते हैं । मुनक्का में किशमिश की तुलना में आयरन और कैल्शियम ज्यादा होता है जो शरीर में रक्त की कमी को दूर करता है। किशमिश में अम्लीयता पाई जाती है जो एसिडिटी की समस्या को बढ़ावा देती है वहीं मुनक्का में फाइबर पाया जाता है जो पेट की समस्याओं को दूर करता है । पोषक तत्वों की बात की जाए तो मुनक्का में किशमिश की तुलना में अधिक पोषक तत्व पाए जाते हैं इसलिए इसे ज्यादा फायदेमंद माना जाता है ।

दूध में मुनक्का खाने से क्या होता है?

दूध के साथ मुनक्के का सेवन करने से कई लाभ हैं । रोजाना रात को दूध के साथ मुनक्के को उबालकर पीने से शरीर में रक्त की कमी दूर होती है। दूध के साथ मुनक्के का सेवन करने से नींद अच्छी आती है, यह कब्ज की समस्या को भी दूर करता है । यदि सर्दी जुकाम की समस्या से पीड़ित है तो दूध के साथ मुनक्का को उबालकर उसका सेवन करें यह सर्दी जुकाम को खत्म कर देगा । दूध के साथ मुनक्के का सेवन गठिया रोग के लिए भी लाभदायक होता है इससे हड्डियां भी मजबूत होती हैं और यह शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है ।

मुनक्का और किशमिश में क्या अंतर है?

मुनक्का और किशमिश दोनों अंगूर से बनते हैं फिर भी दोनों के गुणों और आकार में काफी अंतर होता है । सामान्य रूप से किशमिश बीज रहित और पीले हरे रंग के साथ छोटी होती है। दूसरी ओर मुनक्का बड़ा, बीज के साथ भूरे या हल्‍के काले रंग का होता है। किशमिश छोटे अंगूरों को सुखाकर तैयार की जाती है जबकि मुनक्का लाल रंग के बड़े अंगूरों को सुखाकर तैयार की जाती है इसमें बीज भी होता है ।

1 Comment

  1. Pingback:जानिए पतंजलि एलोवेरा जेल कैसे लगाएं, पतंजलि एलोवेरा जेल के फायदे और नुकसान-Aloe Vera Ka Upyog In Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!