मेन्यू बंद करे

लिकोरिया क्या होता है? लिकोरिया का घरेलु इलाज? कैसे करे इसको ठीक?

श्वेत प्रदर का इलाज

लिकोरिया क्या होता है, लिकोरिया क्यों होता है लिकोरिया का घरेलु इलाज, इसकी पूरी जानकारी आपको इस आर्टिकल में अवश्य मिलेगी।

लिकोरिया, यह महिलाओं में तेजी से बढ़ता हुआ रोग माना जाता है। हालांकि लिकोरिया खुद एक बीमारी नहीं है। लेकिन कुछ बीमारियों के कारण महिलाओं को लिकोरिया जैसी समस्या उत्पन्न होती है।

लिकोरिया क्या है ?

लिकोरिया को हिंदी में श्वेत प्रदार्थ या जनरल भाषा में सफेद पानी भी कह सकते है। यह लक्षण सामान्यतः सभी महिलाओं में दिखाई देते हैं। लेकिन जब योनि मार्ग से सफेद पानी की मात्रा बहुत ज्यादा हो तो, वह एक रोग हो सकता है।

यह सफेद पानी महावारी से कुछ दिन पहले महिलाओं के योनि मार्ग से निकलता है। जिसे लिकोरिया कहते हैं। लेकिन यह पानी ज्यादा मात्रा में निकले तो इसके बारे में जल्दी ही डॉक्टर से संपर्क करके उचित ट्रीटमेंट लिया जाना चाहिए, क्योंकि भारतीय महिलाओं में शर्म के चक्कर में इस बीमारी के बारे में किसी को नहीं बताते हैं, और इसका उचित ट्रीटमेंट नहीं ले पाते हैं।

ऐसे में इस बीमारी के कारण शरीर का वजन करता है, शरीर कमजोर होता है, तथा अन्य कई लक्षण देखने को मिलते हैं।

लिकोरिया के लक्षण व सफेद पानी आने का कारण

  1. योनि क्षेत्र में खुजली होना
  2. योनि के बाहरी भाग में हल्की सूजन आना
  3. योनि में खिंचाव होना
  4. कमर दर्द होना
  5. चिड़चिड़ापन व्यवहार रहना
  6. शरीर में कमजोरी का एहसास होना
  7. शरीर के वजन का अत्यधिक मात्रा में घटना
  8. चक्कर आना
  9. बार-बार जी मिचलाना

यह सफेद पानी निकलने की बीमारी लिकोरिया हर कोई महिला या लड़की में हो सकती है। चाहे वह विवाहित हो यह अविवाहित इस प्रकार की बीमारी होना, सफेद पानी का आना मतलब यह है कि मन में बार-बार संभोग के प्रति उत्तेजना या अत्यधिक संभोग बनाना हो सकता है। 1 से अधिक लोगों के साथ एक साथ लंबे समय तक संबंध बनाने के कारण भी इस प्रकार की बीमारी हो सकती है। कई बार यह बीमारी नवजात लड़की में भी हो सकती है।

ऐसे में नवजात लड़की में माता द्वारा एस्ट्रोजन की मात्रा अत्यधिक मिलने पर नवजात लड़की के योनि से सफेद पानी निकलना शुरू होता है। यह बीमारी अत्यधिक बार लगातार उपवास करने या भूखे रहने से भी हो सकती है। इसके अलावा मन में या किसी के साथ संपूर्ण से संबंधित तथा अश्लील तरीके से वार्तालाप करने पर भी योनि से सफेद पानी निकलता है। संभोग के दौरान कई प्रकार के उलटे आसनों का प्रयोग करना, संभोग बनाने के बाद योनि को अच्छी तरह से नहीं धोना , बार बार गर्भपात भी इस बीमारी का एक कारण है। कई बार यह बीमारी सूक्ष्मजीवों के समूह के कारण भी हो जाती है

घरेलू नुस्खे फॉर लिकोरिया इन हिंदी

लिकोरिया का सबसे महत्वपूर्ण और जरूरी घरेलू उपाय योनि की साफ सफाई से रखना है। योनि की साफ सफाई के लिए फिटकरी के पानी से योनि को संबंध बनाने के बाद अच्छी तरह से धो लें फिटकरी जीवाणु नाशक औषधि मानी जाती है। योनि की अंदरूनी सफाई के लिए पिचकारी से आयुर्वेदिक तेल तथा बोरिक एसिड के का प्रयोग किया जा सकता है।

मिथुन या संबंध बनाने के पश्चात योनि की साबुन से अवश्य सफाई करे। हर बार मल मूत्र त्याग के पश्चात जननांग योनि को साबुन से अच्छी तरीके से धोएं। बार बार गर्भपात करने से बचें क्योंकि बार-बार गर्भपात करना भी लिकोरिया बीमारी का लक्षण है।
एक अथवा दो संतान प्राप्त होने के बाद महिला की या उसके पति की नसबंदी अवश्य करवा लें। ऐसा करने पर बार बार गर्भपात जैसी समस्या नहीं होगी।

भारतीय महिलाओं में शर्म को लेकर सबसे बड़ी चिंता रहती है। इस प्रकार की बीमारी होने के बाद शर्म की चिंता को छोड़कर महिला विशेषज्ञ से इस बीमारी के बारे में सलाह ले लें। जननांग क्षेत्र को ज्यादा पानी में गिला रखने से बचें योनि को संबंध के बाद धोने के पश्चात अच्छे से पोछ ले ज्यादा समय तक योनि को गिला नहीं रखें ऐसे में कई ऐसे बैक्टीरिया मर जाते हैं। जो आपकी योनि को कई रोगों से बचाते हैं। योन संबंध के दौरान कई प्रकार के संक्रमण से बचने के लिए कंडोम का इस्तेमाल करें । मधुमेह रोग से ग्रस्त महिलाओं को रक्त में शर्करा की मात्रा को कम करने पर विशेष ध्यान देना चाहिए।

आपने क्या सीखा लिकोरिया के बारे में

हम उम्मीद करते है, कि लिकोरिया क्या है, और लिकोरिया से बचने के घरेलु उपाय क्या क्या है, इसकी पूरी जानकारी आपको मिल चुकी होगी, और अगर फिर भी आपके मन में इससे रिलेटेड कोई भी सवाल है, तो हमसे कमेंट करके पूछ सकते है, हम जल्द ही जबाब देंगे।

तो दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर से जरूर शेयर करे, ताकि वो इस तरह के महामारी से बच सके, और एक सफल जीवन जी सके।

1 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *