मेन्यू बंद करे

जानिये नीम की पत्ती खाने के फायदे-Neem Ki Patti Khane Ke Fayde

नीम की पत्ती खाने के फायदे

नीम का शायद ही कोई ऐसा भाग है जिसका उपयोग औषधि के रूप में ना किया जाता हो। नीम के फल, बीज, पत्ती, जड़,छाल, टहनी, तेल सभी का प्रयोग विभिन्न बीमारियों में किया जाता है। प्राचीन काल से नींम के ओषधिय गुण से हम सभी अवगत है। लेकिन आज इस आर्टिकल में हम नीम की पत्ती के फायदे बताएंगे।

नीम की पत्तियों का स्वाद भले ही कड़वा हो, पर इनके सेवन से अनगिनत फायदे होते है। यदि आप थोड़ी देर के लिए जीभ के स्वाद को भूल जाए तो, बहुत स्वास्थ्य के मालिक हो सकते है।

नीम की पत्ती खाने के फायदे-Neem Ki Patti Khane Ke Fayde

कैंसर में फायदेमंद

नीम की पत्तियों में शामिल पॉलीसेकीराइड्स और लिमोनाइड्स विभिन्न ट्यूमर और कैंसर के असर को कम करते है। इसके अलावा नीम की पत्तियों का खाली पेट सेवन लिम्फोसाईटिक अनीमिया में भी फायदेमंद है।
नीम शरीर में खून को साफ करके फ्री रेडिकल्स को दूर करता है।

इम्युनिटी बढ़ाए

नीम की पत्तियों के एंटीवायरल, एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल गुणों से सब परिचित है। ये गुण न केवल सामान्य फ्लू से शरीर को बचाते है, हृदय रोग और कैंसर जैसी कई बीमारियों का खतरा कम करते है।

इम्युनिटी बेहतर होने से आप मौसमी बदलाव या खानपान या जगह के बदलाव से होने कि वाले नुकसान से बचते है।

मुख की साफ सफाई

पुराने जमाने के लोग ही नही बल्कि आज की युवा पीढ़ी भी नीम की दातुन की कायल है, किंतु कई बार समय तो कई बार अनुपलब्ध होने के कारण इसका इस्तेमाल नही कर पाते।

सुबह खाली पेट नीम के पत्ते चबाने से मुख की बहुत बेहतरीन सफाई होती है। मसूड़ो का इन्फेक्शन नही होता, मुख की बदबू दूर होती है। प्लाक और कैविटी से बचे रहते है।

इसके अलावा दांत के कीड़े, तम्बाकू और बीड़ी सिगरेट के कारण होने वाले दांतो का पीलापन दूर होता हौ। दांत चमकदार होकर मुस्कुराहट खूबसूरत बनती है।

पाचनतंत्र को मजबूत बनाए

अगर आपको पाचन से सम्बंधित कोई भी दिक्कत जैसे, एसिडिटी, गैस, सीने में जलन, कब्ज़, है तो नीम के पत्ते आपके लिए रामबाण है। नीम की पत्तियों से ना केवल इम्युनिटी बढ़ती है बल्कि आप भोजन को सही तरीके से पचा पाते है।ये पेट से हानिकारक विषैले तत्वों को निकाल कर इन्फेक्शन से बचाते है।

डायबिटीज में लाभदायक

आपको डायबिटीज हो या न हो, यदि आप नियम से सुबह खाली पेट नीम के पत्तो का सेवन करते है तो, इस समस्या में बचाव व सुधार दोनों होता है।

केवल आयुर्वेद ही नही होमियोपैथी व अलोपथी भी इस बात को मानती है कि, डायबिटीज में नीम के पत्तो का सेवन स्थिति को काफी हद तक सुधार सकता है।

सौंदर्य को बढ़ाये

जी हाँ सही पढ़ा आपने, नीम की पत्ती को खाने से सौंदर्य में काफी वृद्धि होती है। दरअसल नीम के एंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीवायरल, एंटीफंगल गुण खून को साफ करके त्वचा को चमकदार बनाता है। नीम की पत्तियों के सेवन से दाग धब्बे दूर होते है, स्किन की रेडनेस, इन्फेक्शन, खुजली जैसी समस्याओं से छुटकारा मिलता है। इसके अलावा बालो की सुंदरता को बढाने में भी ये बहुत लाभदायक है।

स्कैल्प पर होने वाला हर प्रकार का इन्फेक्शन नीम के सेवन से दूर होता है। जब जड़े स्वस्थ होंगी तो बाल खुद ब खुद रेशमी, मुलायम, घने व चमकदार बनेंगे।

मलेरिया में फायदेमंद

नीम की पत्तियां मलेरिया से लड़ने में बहुत मददगार होती है। मरीजो के लिए ही नही अपितु मलेरिया को फैलने से रोकने के लिए भी इन पत्तियों का उपयोग किया जाता है।

आर्थराइटिस में फायदेमंद

नीम की पत्तियों का सेवन हर प्रकार के आर्थ्राइटिस में फायदेमंद है, इससे न केवल दर्द की स्थिति सुधरती है, बल्कि सूजन मे भी कमी आती है।

नीम की पत्ती खाने के नुकसान

एक बात आपने जरूर सुनी होगी कि ‘अति सर्वत्र वर्जयते’ अर्थात किसी भी काम को सीमा से परे जाकर करना नुकसान दायक है।
इसी प्रकार नीम के पत्तों का सेवन भी कुछ परिस्थितियों में हानिकारक है। अब हम आपको इसी बारे में अवगत कराएंगे।

  • जर्नल कान्ट्रसेप्शन में छपे एक रिसर्च के अनुसार, रोजाना 3 मिलीग्राम या इससे ज्यादा नीम के पत्तों का रस पीने से शुक्राणु नष्ट हो सकते हैं। रिसर्च के अनुसार, नीम का रस ना केवल स्पर्म को गतिहीन कर सकता है बल्कि 20 सेकंड के अंदर ही 100 फीसदी मानव शुक्राणु को भी खत्म कर सकता है।
  • गर्भवती स्त्री को नीम के पत्तो का सेवन नही करना चाहिए, ये बहुत नुकसानदायक हो सकता हैं।
  • नीम शुगर लेवल को कम करता है, इसलिए यदि आप उपवास कर रही हैं तो नीम का सेवन नहीं करना चाहिए।
  • नीम के ज्यादा सेवन से मुंह का स्वाद खत्म हो जाता है।
0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *