मेन्यू बंद करे

विटामिन ई के फायदे और नुकसान

विटामिन इ के फायदे और नुकसान

हेलो दोस्तों कैसे हो आप मै उम्मीद करता हूँ आप सब ठीक होंगे अगर आप भी इंटरनेट पर विटामिन ई के फायदे और नुकसान से सम्बंधित कोई जानकारी खोज रहे थे तो आप बिलकुल सही जगह पर हो। क्यूंकि आज की इस पोस्ट में हम लोग जानेगे विटामिन ई कैप्सूल खाने के फायदे।

शायद आपने ये देखा ही होगा या आप जानते होंगे की विटामिन इ कुछ फलो और ड्राई फ्रूट्स में पाए जाते है जो हमारी सेहत के साथ साथ हमारी त्वचा और सौन्दर्य को भी निखारता है।

विटामिन इ में सोयाबीन, जैतून, तिल के तेल, सूरजमुखी, पालक, ऐलोवेरा, शतावरी आदि के गुण पाए जाते है तो चलिए अब जानते है विटामिन इ होता क्या है। विटामिन इ क्या होता है। विटामिन इ बसा में आसानी से घुल जाने वाला एक पदार्थ है। इसमें बहुत ही शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण मैजूद होते है जो हमारी बॉडी के लिए फायदेमंद है। ज्यादातर लोग विटामिन ई कैप्सूल का सेवन अपने स्किन और त्वचा के लिए ही करते है।

कई खाद्य पदार्थो में विटामिन इ की मात्रा पाई जाती है जो मैं आपको ऊपर की ओर बता चूका हु। ये त्वचा के लचीलेपन को बनाये रखता है बालो का गिरना, झुर्रिया पड़ना और त्वचा का फटना ऐसी समस्याओ से राहत मिलती है। ये सारी समस्याएं हमारी कोशिकाओं के द्वारा होती है जिनको हम इंग्लिश में रेडिकल्स बोलते है। विटामिन इ का इस्तेमाल वैसे तो कहा जाता है की बाजार में मिलने वाली हरी सब्ज़ियों में भी विटामिन इ पाया जाता है। अगर आपके स्किन और बाल बहुत ज्यादा खराब हो गए हैं और आपको लगता है की अब सब्ज़ियों से मुझे कोई फायदा नहीं होगा। तो आप विटामिन ई के कैप्सूल ले सकते हैं। किसी भी अच्छे मेडिकल शॉप या पतंजलि स्टोर पे विटामिन ई कैप्सूल हमेशा मौजूद रहते है।

विटामिन ई के फायदे

आप वहाँ पर जाकर विटामिन ई कैप्सूल खरीद सकते हो और उन्हें खा सकते हो अगर आपकी त्वचा और स्किन से सम्बंधित कोई प्रॉब्लम है साथ ही आपको बालो से रिलेटेड कोइ दिक्कत है तो आपको विटामिन ई कैप्सूल में सूई से छेद करके सारा ज़ेल निकाल लेना है और उसे रात को सोने से पहले बालों में लगाकर सो जाना है। फिर सुबह उठकर बालों को धो लें ऐसा लगतार हफ्ते करने से आपको फायदा होगा इससे बालों को पोषक-तत्व प्राप्त होंगे और बाल शाइन करने लगेंगे।

विटामिन ई के फायदे विटामिन ई कैप्सूलों का उपयोग कई तरह के सौंदर्य की परेशानिओ में किया जाता है। इसका अहम कारण है कि यह एक बेहतरीन क्लिंजर है जो त्वचा की सारे पार्ट्स और अंगो में जमी गंदगी और मृत कोशिकाओं की सफाई करने में सहायक है।

विटामिन ई डैड यानि मृत स्किन कोशिकाओं को हटाकर हटाकर नई स्किन कोशिकाओं को जल्दी लाने में अधिक मदद करता है । इसलिए ये स्किन के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसी तरह ये बालों को एंटीऑक्सीडेंट प्रदान कर उन्हें शाइन करने में मदद करते हैं ये बालो के लिए भी उचित फायदेमंद होता है।

हमारे शरीर में रेड ब्‍लड सेल्‍स यानि लाल रक्‍त कोशिकाओं का निर्माण करने में विटामिन-ई बहुत ही ज्यादा सहायक है। प्रेग्‍नेंसी के दौरान विटामिन- ई का सेवन बच्‍चे में एनीमिया मतलब खून की कमी से छुटकारा दिलाता है।

अगर उम्र से पहले हीआपके बाल सफ़ेद हो रहे है तो आप विटामिन ई कैप्सूल का उपयोग करे क्योकि विटामिन ई कैप्सूल बालो को सफ़ेद होंने से बचाता है।आप विटामिन इ कैप्सूल की जगह पर विटामिन का तेल भी अपने बालो पर लगा सकते हो। ऐसा करने से भी आपको उचित फायदा होगा।

विटामिन ई के कैप्सूलों में भरपूर मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो त्वचा पर बढ़ती उम्र के असर को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा यह झुर्रियों को भी जड़ से ख़त्म करने में सहायक है।

विटामिन ई के कैप्सूल का सेवन करने से शरीर से तनाव थकन मिटाने में सहायता मिलती है व् शरीर में नया जोश और ताकत प्राप्त होती है। विटामिन इ की कमी से मानसिक रोग बढ़ जाते है जिस कारण लोगो को कमज़ोरी महसूस होती है उनके लिए भी विटामिन ई के कैप्सूल काफी हद तक फायेमंद साबित होते है।

अकसर देखा गया है की जिन लोगो को कैंसर की बीमारी होती है उन लोगो में विटामिन की कमी होती है तो डॉक्टर उन लोगो को विटामिन ई के कैप्सूल खाने की सलाह देते है अगर आपको भी इससे सम्बंधित कोई तकलीफ है तो आप बिटामिन इ के कैप्सूल का सेवन कर सकते है।

0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *