मेन्यू बंद करे

पीरियड मिस होने पर घरेलू उपाय,जो आप पहले नहीं जानते होंगे

पीरियड मिस होने पर घरेलू उपाय

पीरियड शुरू होने से लेकर बन्द होने तक कुछ न कुछ समस्याओं से हर महिला दो चार होती है। कभी ब्लीडिंग ज्यादा तो कभी कम, कभी समय पर तो कभी असमय, कभी हैवी तो कभी सिर्फ स्पॉटिंग। यदि आप विवाहित है तो पीरियड मिस होना एक सुखद संकेत हो सकता है, लेकिन हमेशा नही। यदि आप अविवाहित है तो अवश्य ये एक समस्या है। लगातार लंबे समय तक पीरियड मिस होना कई समस्याओं को न्यौता देता हैं, जैसे रिप्रोडक्टिव कैपेसिटी का घटना या गर्भ धारण करने में समस्या, मोटापा बढ़ना, ओवरी में समस्या, भूख न लगना, फैशियल हेयर आदि। आज इस आर्टिकल में हम बात करेंगे पीरियड के मिस होने के कारण क्या है और कैसे आप पीरियड मिस होने पर घरेलू उपाय आजमा कर इस समस्या से निजात पा सकती है।

महिलाओं में पीरियड मिस होने की समस्या के निम्न कारणों से हो सकती है।

  • असमय व गलत खान पान से
  • सिडेंटरी लाइफ स्टाइल से
  • एंग्जायटी,डिप्रेशन, हैवी वर्क लोड से
  • थायरॉइड
  • मेनोपॉज
  • आहार में जरुरी पोषक तत्वों की कमी।
  • पॉलिसिस्टिक ओवरियन सिंड्रोम या पॉलिसिस्टिक ओवरियन डिजीज
  • जरूरत से ज्यादा व्यायाम या शारीरिक श्रम करना
  • बहुत लंबे समय तक बीमार रहना
  • गर्भाशय या गर्भाशय नलिका में कोई डिफेक्ट होना
  • महिला एथलीट्स द्वारा या फिटनेस के लिए स्टेरॉयड का सेवन करना।

हमारे शरीर मे कोई भी रोग वात, पित्त, कफ के असंतुलन के कारण होते हैं। ये असंतुलन पोषक तत्वों की कमी, और अनुचित जीवन शैली, या अन्य कारणों से होता है। जब लड़की में पीरियड की शुरुआत हो तो कई बार पीरियड मिस होते है। ये एक सामान्य बात है। इसी प्रकार किसी महिला में मेनोपॉज़ के आसपास भी पीरियड मिस होना देखा जाता है।

लेकिन यदि ये समस्या लंबे समय तक बनी रहे तो स्थिति गम्भीर हो सकती है। शुरुआती दौर में इस समस्या के लिए आप घरेलू उपाय अपना सकते है। आज इस आर्टिकल में हम आपको पीरियड मिस होने पर घरेलू उपाय बताएंगे।

पीरियड मिस होने पर घरेलू उपाय-Period Lane Ke Gharelu Upay

हल्दी-Period Jaldi Lane Ke Gharelu Upay

हल्दी एन्टीबैक्टीरियल, एन्टी फंगल होने के अलावा बहुत गर्म भी मानी जाती है। इसलिए इसका उपयोग सर्दी जुकाम में किया जाता है।
यदि किसी महीने आपके पीरियड मिस हो तो गरम पानी में या एक गिलास गर्म दूध में एक चुटकी हल्दी डालकर पीरियड होने की डेट से पाँच दिन पहले सुबह-शाम पीना शुरू करे।

इससे न केवल पीरियड शुरू होंगे बल्कि छोटा मोटा इन्फेक्शन भी खत्म हो जाएगा।

गाजर के बीज-Masik Dharm Aane Ke Upay In Hindi

गाजर के बीज अत्यधिक गर्म तासीर के होते है, तो यदि आप विवाहित है, तो पीरियड मिस होने पर सोच समझकर इसका इस्तेमाल करे।
गाजर में उपस्थित केरोटीन नाम का तत्व बॉडी में एस्ट्रोजन का लेवल बढ़ाता है। इससे पीरियड समय पर खुलकर तथा समय पर होता है।इसके लिए आप गाजर के बीज को पानी मे उबाल कर उस पानी को दिन में तीन बार पिए।

इसके अलावा गाजर के बीज को पीसकर किसी चूर्ण में मिलाकर भी प्रयोग किया जा सकता है।

तिल-Period Jaldi Aane Ke Upay

तिल को आप किसी भी रूप में ले ये फायदेमंद ही होते है। आप तिल के लड्डू बनाये या भूनकर खाए। पीरियड शुरू होने के दस दिन पहले से ही इसका सेवन शुरू कर दे।

खासकर गुड़ में मिलाकर खाने से यह ज्यादा फायदा करता है।

अदरक-Period Na Aane Par Kya Kare

अदरक का ज्यादा से ज्यादा से उपयोग करें, अदरक का रस निकालकर गुड़ के साथ खाए। अदरक हल्दी की चाय बनाकर पिए, सब्जी में डालकर इसका प्रयोग करें या अचार बनाकर।

अदरक पीरियड मिस होने की समस्या में अकेला फायदा नही करेगा। अदरक का प्रयोग अन्य उपायों के साथ करे।

पपीता-Mahwari Na Aane Ka Ilaj

पीरियड होने से 4 दिन पहले एक प्लेट पपीते का फल खाएं। इसमें मौजूद कैरोटी एस्ट्रोजन हार्मोन को उत्तेजित करता है। इसके सेवन से पीरियड समय पर एवं खुलकर होता है।

धनिया-Masik Dharm Aane Ke Upay In Hindi

साबुत धनिये को रात भर पानी मे भिगोकर रखे, सुबह उस पानी को पी ले। हरे धनिये की जड़ को अच्छी तरह धोकर,उबालकर उस पानी का प्रयोग करें।

पानी को दिन में तीन बार 50ml पिए, हरे धनिये की चटनी खाए। यह उपाय भी पीरियड मिस होने पर लाभ दिलाता है। साथ ही हार्मोनल डिस्टर्बेंस को ठीक करता है।

मेथी-Period Jaldi Lane Ke Gharelu Upay

मेथी का प्रयोग केवल पीरियड के समय नही बल्कि रेगुलर किया जा सकता है। इसके लिए रोज रात को एक चम्मच मेथी भिगो दें, सुबह आधा चम्मच भीगी मेथी पानी से निगल ले।
लगातार ऐसा करने से हॉर्मोनल समस्याए भी दूर होंगी।

गुड़ की पात-Periods Jaldi Aane Ke Upay

गुड़ की पात सामान्यतया जच्चा को दी जाती है, पर पीरियड मिस होने पर भी इसका प्रयोग किया जा सकता है। ये खाने में स्वादिष्ट होने के साथ सेहतमंद भी है, इसे बनाने में अजवायन, गुड़, काजू, बादाम, गोला, घी, मखाने का इस्तेमाल किया जाता है

इन सब उपायों के अलावा आप अपनी जीवनशैली सुधारे, ताकि समस्या जड़ से दूर हो जाये।

  • विटामिन एवं खनिज जैसे पोषक तत्व से भरपूर भोजन करे।
  • सब्जियाँ, दाल, अंकुरित अनाज एवं सूखे मेवों का सेवन करें।
  • केवल मौसमी फल खाएं
  • तनाव को दूर करने के लिए ध्यान, योग, म्यूजिक का सहारा ले।
  • अत्यधिक शारीरिक श्रम एवं व्यायाम से बचें।
  • नियमित रूप से सुबह प्राणायाम एवं योगासन करें।
  • पैकेजिंग वाले और जंकफूड से बचे।
0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *