मेन्यू बंद करे

थायराइड में परहेज क्यों है जरुरी,थायरॉइड है तो करें इन चीजों से परहेज

थायरॉइड में परहेज




इसमें पुरुषों की बजाय महिलाएं ज्यादा हायराइड बीमारी से ग्रस्त हैं। इस बात का खुलासा इंडियन थायराइड सोसायटी द्वारा निकाली गई रिपोर्ट में मिला है जिसमें इस बात का भी खुलासा हुआ है, कि पुरुषों की बजाय देश की महिलाओं में थायराइड बीमारी ज्यादा पाई गई है।

थायराइड की वजह से व्यक्ति के शरीर में और भी कई बीमारियों के बढ़ने की आशंका होती है। थायराइड जिन व्यक्ति को होता है उन्हें खून की समस्या, कोलेस्ट्रॉल , डिप्रेशन ,डायबिटीज , इनसोम्निया, और दिल की बीमारी जैसा खतरा मंडराने लगता है।

थायराइड किसी बीमारी का नहीं बल्कि मनुष्य के गले में पाई जाने वाली तितली के आकार की एक ग्रंथि का नाम है। यह ग्रंथि हमारे शरीर में कई जरूरी गतिविधियों को नियंत्रित करती है। थायराइड ग्रंथि हमारे शरीर के लिए कुछ हॉर्मोंस का निर्माण करती है, जिनके नाम इस प्रकार है – टी3 यानी ट्राईआयोडोथायरोनिन (triiodothyronine), टी4 यानी थायरॉक्सिन (thyroxine) और कैल्सीटोनिन (calcitonin)। ये हार्मोंस व्यक्ति के वजन, कोलेस्ट्रॉल, तापमान और भी कई अन्य चीजों पर प्रभाव डालते है। इन हॉर्मोंस में असंतुलन का सीधा असर हमारे शरीर के वजन पर पड़ने के साथ साथ शरीर के बाकी कई अन्य अंग भी प्रभावित होते है। शरीर की इस अवस्था को ही थायराइड की समस्या कहा जाता हैं।

थायराइड काफी घातक बीमारी है और ज्यादातर लोग इस बीमारी के शिकार होते जा रहे हैं। जिन व्यक्तियों को थायराइड है उन्हें कई चीजों से परहेज रखना बहुत जरूरी होता है। इन चीजों से परहेज रखते हुए अपने थायराइड की समस्या को और अधिक बढ़ने से रोक सकते हैं।

थायराइड में परहेज | थाइरोइड में क्या ना खाये

कैफीन

कॉफी तथा चाय इन दोनों में कैफीन भरपूर उपस्थित होता है। जिससे सीधे थायराइड नहीं बढ़ता है, लेकिन उन लोगो में काफी परेशानियां खड़ी करता है। जिससे थायराइड की वजह पैदा होती है।



जैसे बेचैनी आना और चक्कर आना इस प्रकार के लक्षण ज्यादा चाय कॉफी पीने से आते हैं। थायराइड से ग्रस्त लोगों को चाय कॉफी को नजरअंदाज करना चाहिए

रेड मीट

मीट प्रोटीन युक्त भोज्य पदार्थ हैं लेकिन रेड मीट में कोलेस्ट्रॉल तथा फैट बहुत ज्यादा होती है। जिससे शरीर का मोटापा तेजी से बढ़ता है। थायराइड से ग्रस्त लोगों को पहले से ही मोटापे की परेशानी होती है इसलिए रेड मीट नहीं खाएं। थायराइड की समस्या से ग्रस्त लोग जब रेड मीट का सेवन करते हैं, तो उनके आमाशय में एसिडिटी जैसी समस्या उत्पन्न होती है।

एल्कोहल

थायराइड से परेशान लोग नशीले पदार्थ जैसे शराब बीयर या कोई अन्य एनर्जी ड्रिंक का सेवन नहीं करें। थायराइड की समस्या वाले लोगों को इस प्रकार की नशीली पदार्थों के सेवन से नींद में दिक्कत और मस्तिष्क संबंधित कई प्रकार की समस्याएं उत्पन्न होती है। इसके अलावा ऑस्टियोपोरोसिस का भी खतरा बढ़ता है।

स्मोकिंग नहीं करें

थायराइड से ग्रस्त लोगों को सिगरेट बीड़ी जैसे स्मोकिंग पदार्थों से दूरी रखनी होती है, क्योंकि स्मोकिंग में उपस्थित विषैला पदार्थ थायनोसाईनेट जो सीधा थायराइड ग्रंथि को नुकसान पहुंचाता है, तथा थायराइड ग्रंथि इस प्रकार के नशीले पदार्थों के सेवन से थायरोक्सिन के निर्माण में कमी ला देती है, और शरीर में कई अन्य इफेक्ट आने शुरू होते हैं ।

इस प्रकार के पदार्थों के नियमित सेवन से दिल का दौरा तथा कैंसर जैसी समस्याएं उत्पन्न होती है

इन सब्जियों से भी रखे दूरी

हालांकि ज्यादातर सब्जियां थायराइड से ग्रस्त लोगों के लिए नुकसानदायक नहीं होती है, परंतु कुछ सब्जियां जैसे फूल गोभी पत्ता गोभी तथा ब्रोकली यह थायराइड से ग्रस्त लोगों के लिए काफी ज्यादा हानिकारक साबित हुई है।

इस प्रकार की सब्जियों का सेवन थायराइड से ग्रस्त लोग बिल्कुल ना करें इसके अलावा थायराइड से ग्रस्त लोग हर चार-पांच महीने के अंदर अपने थायराइड की जांच जरूर करवाएं और चिकित्सक से सलाह लें तथा साथ ही नियमित रूप से दवाइयों का सेवन करें।

आपने क्या सीखा

हम उम्मीद करते है, की थायराइड क्या है, थायराइड के लक्षण क्या होते है, थायराइड में परहेज क्यों जरुरी है, साथ ही थायराइड से बचने के घरेलु उपाय क्या है, इसकी पूरी जानकारी आपको मिल चुकी होगी, यदि आपका इससे सम्बधित कोई सवाल है, तो आप कमेंट के जरिये पूछ सकते है।



तो दोस्तों अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो प्लीज इसे अपने दोस्तों और सोशल मीडिया पर जरूर से जरूर शेयर करे ताकि वो भी इस तरह के बीमारी से अवगात हो सके ।

0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *