Menu Close

क्या है अंजीर के फायदे इन हिंदी-Anjeer Ke Fayde Hindi Me

अंजीर के फायदे

अंजीर एक ऐसा मीठा फल जो स्वाद के साथ साथ स्वाथ्य भी देता है। वर्षो से विभिन्न रोगों और कमजोरी को दूर करने के लिए अंजीर का प्रयोग किया जाता है। इसे फिकस कैरीका नाम से भी जानते हैं। यह रसीला और गूदेदार फल होता है। आपको शायद जानकर हैरानी होगी कि अलग स्थान पर उगाए गए अंजीर का स्वाद भी अलग अलग होता है।

तुर्की विश्व मे सबसे बड़ा अंजीर उत्पादक है इसके अलावा भारत चीन और अमरीका समेत कई भागों में भी अंजीर उगाया जाता है। अंजीर का थोड़ा बहुत उत्पादन अमेरिका और यूरोप में भी होता है।

अंजीर कितने तरह का होता है

ब्लैक मिशन

अंदर से गुलाबी रंग का ये अंजीर मीठा और रसभरा होता है।

कडोटा

हरे रंग का ये अंजीर कम मीठा होता है।

कैलिमिरना

हरे पीले रंग का होता है और अन्य किस्मो के मुकाबले बड़ा होता है।

ब्राउन तुर्की

इस अंजीर का बाहरी रंग बैंगनी और गूदा लाल होता है। इसका स्वाद हल्का और कम मीठा होता है।

एड्रियाटिक अंजीर

हल्का हरा और अंदर से गुलाबी रंग का होता है। इसका स्वाद बहुत मीठा होता है।

See also  वात रोग क्या है? जानिए कैसे करे वात रोग की पहचान-Vaat Rog Ke Lakshan

अंजीर में पाए जाने वाले पोषक तत्व

अंजीर में एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन्स और फाइटोन्यूट्रिएंट्स, सॉल्युबल फाइबर और नेचुरल सुगर होती है।

अंजीर के फायदे-Anjeer Ke Fayde Hindi Me

आज इस आर्टिकल में हम आपको अंजीर के फायदों से अवगत कराएंगे।

फिट एंड ट्रिम करें

अगर आप स्लिम होने के बारे में सोच रहे है तो अंजीर स्नैक के लिए सबसे बेहतर ऑप्शन है। ये हाई फाइबर होता है जिससे आसानी से पच भी जाता है। इसे खाकर आपको स्नैक के बाद जल्दी भूख नही लगेगी।

डाइटिंग के समय ये आपके स्वीट टूथ को भी सन्तुष्ठ करेगी, लेकिन इसमें मौजूद मीठा आपका वजन नही बढ़ाएगा। ये एक्स्ट्रा फैट को गलाकर, मोटापे को inches से कम करती है।

बोन्स को मजबूती दे

अंजीर में कैल्शियम, पोटैशियम और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में होते है। और यही तत्व हड्डियों का मुख्य हिस्सा है। इसलिये अगर आप रेगुलर अपनी डाइट में अंजीर को रखते है तो फ्रैक्चर की संभावना बहुत कम हो जाती है। अंजीर हड्डियों को मजबूती देता है।

डायजेस्टिव सिस्टम को सपोर्ट करें

अंजीर को आप फल के तौर पर खाए या सुखाकर, इसका हाई फाइबर आपके पाचन तंत्र को सपोर्ट करेगा। घुलनशील फाइबर होने के कारण ये आसानी से पच जाता है। साथ ही इंटेस्टाइन के पेरिस्ताल्टिक मूव को बढ़ाता है। इसी कारण अंजीर खाने से आपको कब्ज, गैस एसिडिटी, अपच जैसी समस्याएं नही होती।

दिल को रखे स्वस्थ

अंजीर में होते है एंटीऑक्सीडेंट जो दिल को नुकसान पहुचाने वाले फ्री रेडिकल्स को खत्म करते है। साथ ही अंजीर में होते है ओमेगा 3 और ओमेगा 6 फैटी एसिड, जो वाहिकाओं और धमनियों को स्वस्थ्य रख व्यक्ति को हार्ट अटैक और स्ट्रोक से सुरक्षित रखते है।

See also  जानिए भूख लगने के घरेलू नुस्खे-Bhukh Lagne Ke Gharelu Nuskhe In Hindi

कोलेस्ट्रॉल

अंजीर में मौजूद पेक्टिन, B6, ओमेगा 4 और ओमेगा 6 शरीर मे कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखता है।यह बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। अंजीर डायजेस्टिव सिस्टम से भी खराब कोलेस्ट्रॉल को फ्लश आउट करता है।

खून की कमी

अगर किसी के अंदर खून की कमी है तो उसे भविष्य में अन्य रोग भी हो सकते है। ऐसे में आयरन का सेवन बहुत जरूरी हो जाता है। सूखे अंजीर में आयरन की काफी मात्रा होती है, इसलिए अपने शरीर मे खून की कमी दूर करने के लिए अंजीर का सेवन करे।

डायबिटीज

डायबिटीज जैसी समस्या में केवल आप अंजीर के फल का प्रयोफ ही नही कर सकते बल्कि, अंजीर के पत्तो की चाय बनाकर भी पी सकते हो। इसमे मौजूद नेचुरल शुगर आपका शुगर लेवल नही बढ़ने देगा।।

इन फायदों के अलावा अंजीर के निम्न समस्याओं में भी आराम देता है।

कैंसर, अस्थमा, ब्लड प्रेशर, यौन दुर्बलता, सर्दी जुखाम, कमजोर इम्युनिटी, कमजोरी, कम दिखाई देना, असमय उम्रदराज दिखना, बालो का झड़ना आदि।

अंजीर खाने के तरीक़े-अंजीर को कैसे खायें

सेब की तरह अंजीर को भी सुखाकर खाया जाता है। अगर आप इसे कच्चा खा रहे है तो अच्छे से धोकर खाए। छिलका उतार कर भी खा सकते है और छिलके सहित भी।

अगर आप सूखा अंजीर खाने की सोच रहे है तो एक बात का ध्यान रखें। अंजीर बहुत ही गर्म होता है। इसलिए बेहतर होगा इसे रातभर पानी मे भिगो कर इसका सेवन करे।

आप अंजीर को सैंडविच, सलाद, आइसक्रीम, कस्टर्ड, केक में इस्तेमाल कर सकते है।

See also  डेंगू बुखार के लक्षण व उपचार, जो आपके लिए जानना है जरुरी
0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published.