मेन्यू बंद करे

जानिए स्टेरॉयड क्या है, क्या है स्टेरॉयड के फायदे?

स्टेरॉयड के फायदे

स्टेरॉयड क्या है?

स्टेरॉइड के बारे में हमेशा आपने नकारात्मक खबरे ही सुनी होंगी। दरअसल स्टेरॉयड एक आर्टिफीसियल हॉरमोन होता है। जिस प्रकार हॉरमोन मानव शरीर मे निर्मित होते है उसी प्रकार स्टेरॉयड एक मानव निर्मित हॉरमोन है। एक प्रकार के हार्मोन होते हैं जो शरीर में स्वाभाविक रूप से बनते हैं। स्टेरॉयड दवाएं मानव निर्मित होती हैं

स्टेरॉयड का इस्तेमाल केवल बॉडी बिल्डिंग या एथलेटिक्स में नही होता, बल्कि चिकित्सा में भी इसका इस्तेमाल होता है। लेकिन पेशेवर एथलीट और बॉडीबिल्डर जिस स्टेरॉयड का दुरुपयोग अपनी परफॉरमेंस सुधारने के लिए करते है उसे एनाबॉलिक स्टेरॉयड कहते है।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड मासपेशियो को तेजी से ग्रोथ देता है। ऐसा पुरुष हॉरमोन टेस्टोस्टेरॉन के इफ़ेक्ट के कारण होता है। इसलिए इसका उपयोग एथलीट्स और बहुत से युवा मसल्स को बढ़ाने में करते है। इससे शरीर मे ताकत का अहसास होता है। स्टेरॉयड लेने वाला व्यक्ति दुगुनी स्पीड और इंटेनसिटी से वर्कआउट कर पाता है।

लेकिन गैरकानूनी रूप से स्टेरॉयड लेना एक अपराध है। ऐसा करने वाले एथलेटिक्स या स्पोर्ट्स प्लेयर को कानूनी रूप से प्रतिबंधित किया जाता है, साथ ही जुर्माना भी लगता है। शारीरिक, और मानसिक क्षति तो होती ही है, समाज मे बेइज्जती होती है सो अलग। स्टेरॉयड अलग अलग प्रकार से प्रयोग किये जाते है जैसे प्रेडनीसीलोन- गोलियां, सिरप और तरल पदार्थ बीक्लोमेटासोन और फ्लुटाइकसोन-इनहेलर्स और नाक में डालने वाले स्प्रे मेथाईलप्रेडनिसोलोन-इंजेक्शन। हाइड्रोकोर्टिसोन-क्रीम, लोशन और जैल

स्टेरॉयड के फायदे

स्टेरॉयड हमेशा नुकसान दायक नही होते। स्टेरॉयड के कुछ फायदे भी होते है जो आज हम आपको बताएंगे। अगर एक एक्सपर्ट की देखरेख में सही प्रकार से आप स्टेरॉयड का प्रयोग करते है तो आपको निम्न लाभ होंगे।

कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स के लाभ

  • कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स स्वेलिंग को कम करके इम्युनिटी को बढ़ाने का काम करता है। इसलिए ही इस स्टेरॉयड का प्रयोग अस्थमा और एक्जिमा जैसी समस्याओं के लिए किया जाता है।
  • बहुत सी ऑटोइम्यून बीमारी, जैसे रह्यूमोटोइड आर्थराइटिस, ऑटोइम्यून हैपेटाइटिस या सिस्टमिक लुपस एरिथेमैटोसस (एसएलई) का इलाज करने में चिकित्सक इसका प्रयोग करते है।

कॉर्टिकोस्टेरॉइड लेते समय रखे इन बातों का ध्यान

  • डॉक्टर को अच्छे से अवगत कराएं की पहले कभी आपको किस स्टेरॉयड से रिएक्शन हुआ था।
  • स्टेरॉयड के जो साइड इफ़ेक्ट आपने पहले अपने ऊपर देखे है, डॉक्टर को जरूर बताए।
  • डॉक्टर को अपनी मेडिकल हिस्ट्री जरूर बताए कि आप फिलहाल और कौन सी दवाइया ले रहे है।

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के फायदे

  • बिना फैट बढ़े, मसल्स बिल्डउप होती हैं। जिनमे न केवल ग्रोथ दिखती है। बल्कि ये मसल्स शक्तिशाली भी होती है।
  • ये स्टेरॉयड भूख बढ़ाते है, एनर्जी और डेडिकेशन में इम्प्रूवमेंट लाते है। व्यक्ति का कॉन्फिडेंस अलग ही लेवल पर होता है।
  • स्टेरॉयड लेने से आप व्यायाम या कोई भी एथलेटिक एक्टिविटी लगातार कर सकते है। आपको थकान महसूस नही होती है। इससे होगा ये की आप लगातार एब्स या बाइसेप्स, ट्राइसेप्स की एक्सरसाइज कर सकते हो।जिससे आपके एब्स या बाइसेप्स जल्दी बनते है।
  • स्टेरॉयड लेने से मसल्स साइज तेजी से बढ़ता है। यह हमारे मसल साइज को इंप्रूव करने में मदद करता है. जब हमारे बॉडी के हिसाब से हमारा testosterone  बढ़ जाता है तो हमारे मसल्स की साइज बढ़ने लगती है और ज्यादातर हमारी बाइसेप और leg की muscle सबसे ज्यादा इंप्रूव होती है.

स्टेरोइड लेने के नुकसान स्टेरॉयड के नुकसान

कॉर्टिकोस्टेरॉइड के साइड इफेक्ट

एनाबॉलिक स्टेरॉयड के दुष्प्रभाव

मुँहासे, ब्लोटिंग, पेशाब करते समय दर्द या परेशानी हो सकती है, पुरुषों में छाती का बढ़ना, रेड ब्लड सेल की संख्या खतरनाक स्तर तक बढ़ना, एचडीएल कोलेस्ट्रॉल कम होना, एलडीएल कोलेस्ट्रॉल बढ़ना  बाल झड़ना, स्पर्म क्वांटिटी कम होना, नपुंसकता। लिबिडो में कमी, कार्डियोवैस्कुलर समस्या, लिवर की समस्याएं, ट्यूमर, ऑस्टियोपोरोसिस, विकास का रुक जाना, स्त्रियों में अनियमित माहवारी, वॉइस चेंज, क्लाइटोरिस की लम्बाई बढ़ना, फैशियल हेयर, ब्रैस्ट की त्वचा का सिकुड़ना, सेक्स ड्राइव में वृद्धि, लिवर को नुकसान, आदि

इसलिए जब भी आप स्टेरॉयड का सेवन करने का विचार करे। उसके फायदे नुकसान पर भली भांति विचार कर ले।

0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *