मेन्यू बंद करे

क्या है कायम चूर्ण के फायदे-Kayam Churna Benefits In Hindi

कायम चूर्ण के फायदे

कायम चूर्ण बहुत सालो से कब्ज के इलाज के तौर पर जाना जाता है। कायम चूर्ण को बनाने में अलग अलग प्रकार की जड़ी बूटियों का इस्तेमाल किया जाता है। विभिन्न जड़ी बूटियों का ये मिश्रण बदहजमी और अपचन को ठीक करता है। सेठ ब्रदर्स का उत्पाद का कायम चूर्ण एक आयुर्वेदिक पाउडर है। आज इस आर्टिकल में हम आपको कायम चूर्ण के फायदे बताएंगे। साथ ही बताएंगे इसके तत्व, इसके नुकसान और कायम चूर्ण लेने का तरीका।

आपने विभिन्न मैगज़ीन, टीवी, रेडियो पर देखा और सुना ही होगा। यह दवा बहुत ही अच्छे तरीके से पेट को साफ करती है। बेशक ये दवा पेट के लिए अच्छी है लेकिन अति हर चीज़ की बुरी होती है। लगातार कायम चूर्ण लेना सही नही है।

उम्मीद है इस आर्टिकल में आपको इस बारे में पूरी जानकारी मिलेगी।

दवा का नाम- कायम चूर्ण

निर्माता: सेठ ब्रदर

मुख्य प्रयोग: कब्ज़

कायम चूर्ण क्या है?

कायम चूर्ण बहुत सी हर्बल चीज़ों को मिलाकर बनाया गया एक पाउडर है। इस चूर्ण का निर्माण गुजरात के भावनगर में होता है। इस चूर्ण में सबसे ज्यादा मात्रा में, 50% सनाय की पत्तियां होती है। अब आप सोचेंगे कि सनाय क्या है तो हम आपको बताते है।

सनाय

बंजर भूमि में उगने वाला ये पौधा दस्तावर प्रभाव लिए होता है। कब्ज को दूर करने वाली ज्यादतर दवाओं में इसका प्रयोग किया जाता है।इसके अलावा इसे चर्म रोगों, पीलिया, अस्थमा, मलेरिया, बुखार, अपच आदि में भी प्रयोग किया जा रहा है ।

इसका प्रयोग कभी भी 6 साल से कम उम्र के बच्चो के लिए नही करना चाहिए। डॉक्टर से सलाह लेकर ही इसका प्रयोग करे क्योंकि इससे आंत्र रुकावट अल्सरेटिव कोलाइटिस जैसी समस्या हो सकती है।

कायम चूर्ण के फायदे-Kayam Churna Benefits In Hindi

  • यदि आपको बहुत ही कठोर मल हो रहा है, तो कायम चूर्ण लेने से यह समस्या धीरे धीरे खत्म हो जाएगी।
  • कई-कई दिन तक पेट साफ न हो रहा हो, तो रोज रात को सोने से पहले इसका प्रयोग करे फायदा होगा।
  • मल त्यागते समय बहुत जोर लगाना पड़ रहा हो जिससे गुदा छिल कर, खून तक बहने लगा हो। तो तुरन्त खानपान पर ध्यान दे। मसालेदार खाना बंद करें। सुपाच्य भोजन के साथ कायम चूर्ण का सेवन करे।
  • पेट में भारीपन महसूस हो तो सुबह नाश्ते के आधे घण्टे बाद कायम चूर्ण का सेवन करे।
  • गैस, भूख न लगना जैसी समस्याओ में कायम चूर्ण तुरन्त असर दिखाता है।
  • मुंह के छालें जो कब्ज़ के कारण हैं वो भी कब्ज खत्म होने के साथ खत्म हो जाते है।
  • गैस से होने वाला सिरदर्द खत्म होता है।
  • एसिडिटी को दूर करता है।
  • शरीर में ज्यादा पित्त होने पर भी कायम चूर्ण फायदा करता है।

यदि समय रहते कब्ज के हल्के लक्षणो का इलाज न किया जाए तो स्थिति गम्भीर हो सकती हो और आपको बवासीर, फिस्टुला जैसी दिक्कत हो सकती है जो बहुत ही पीड़ादायक है।

कायम चूर्ण के इंग्रीडिएंट

सोनामुखी या सनाय की पत्ती 50%

काला नमक 18%

अजवाइन 11.5%

हिमेज या हरीतकी 8%

सज्जी क्षार 5%

मुलैठी 4.5%

निशोथ 3%

कायम चूर्ण का सेवन कैसे करें-How To Take Kayam Churna

वयस्क: 3 से 6 ग्राम या 1/2- 1 चम्मच, सोते समय गुनगुने पानी के साथ।

किन बातों का रखे ध्यान

कायम चूर्ण को लगातार न ले ,इससे इंटेस्टाइन का पेरिस्ताल्टिक मूवमेंट प्रभावित होता है। सीधे शब्दों में कहे तो नियमित लेने से पेट को इसकी आदत हो जाती है।

  • ये आंतो को कमजोर कर सकता है।
  • पेट दर्द, दस्त और शरीर में पानी की कमी हो सकती है। नियमित उपयोग से स्पर्म और क्वालिटी पर फर्क पड़ सकता है।
  • इसके अलावा ऐंठन, चक्कर आना भूख में कमी, मांसपेशी में कमज़ोरी, आंखों या होंठों में सूजन त्वचा पर चकत्ते जैसे साइड इफ़ेक्ट हो सकते है।

कौन कायम चूर्ण नही ले सकते

  • गर्भवती स्त्री
  • 12 साल से छोटे बच्चे
  • उच्च रक्तचाप के मरीज
  • बवासीर के मरीज
  • दस्तों से पीड़ित व्यक्ति
  • पथरी से पीड़ित व्यक्ति
  • कोलाइटिस
0 Shares

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *